Friday, April 19, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिपश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक ने कर्मचारियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंधों पर जोर...

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक ने कर्मचारियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंधों पर जोर दिया

मुंबई। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री अशोक कुमार मिश्र की अध्यक्षता में 20 एवं 21 दिसंबर, 2023 को वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाइज यूनियन की चतुर्थ पीएनएम बैठक पश्चिम रेलवे के प्रधान कार्यालय में अत्यंत सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न हुई। इस बैठक में प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी श्री एस. के. अलबेला, मुख्य कार्मिक अधिकारी (प्रशासन) श्रीमती मंजुला सक्सेना, मुख्य कार्मिक अधिकारी (सामान्य) श्रीमती प्रमिला सिंह, वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाइज यूनियन के अध्यक्ष श्री आर. सी. शर्मा, महासचिव श्री जे. आर. भोसले, मंडलों/कारखानों/युनिटों के यूनियन के पदाधिकारी, सभी प्रमुख मुख्य विभागाध्यक्ष उपस्थित थे।

पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार महाप्रबंधक ने अत्यंत प्रसन्नता के साथ बताया कि 68वें रेलवे सप्ताह पुरस्कार समारोह में पश्चिम रेलवे ने बाजी मारी। पश्चिम रेलवे को बिक्री प्रबंधन और रेल मदद के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए अति विशिष्ट रेल सेवा पुरस्कार शील्ड प्राप्त हुई। पश्चिम रेलवे ने ट्रैफिक ट्रांसपोर्टेशन शील्ड (दक्षिण पूर्व मध्य रेल के साथ संयुक्त रूप से), लेवल क्रॉसिंग और रोड ओवर/अंडर ब्रिज सेफ्टी वर्क्स शील्ड (पूर्व मध्य रेलवे के साथ संयुक्त रूप से) और स्टोर्स शील्ड (मध्य रेलवे के साथ संयुक्त रूप से) भी हासिल की है। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक ने माल, यात्री, राजस्व, लोडिंग और पार्सल ट्रेनों से उत्पन्न राजस्व के विवरण के साथ 17 नई एसी लोकल ट्रेन सेवाओं की शुरुआत के बारे में भी जानकारी दी।

इस बैठक में रेल कर्मचारियों की समस्यओं संबंधी मुद्दों पर सार्थक चर्चा हुई और उनका समाधान किया गया। बैठक के सफल आयोजन के लिए यूनियन के अध्यक्ष एवं महासचिव द्वारा कार्मिक विभाग की समस्त टीम के कार्य की सराहना की गई और आशा व्यक्त की कि भविष्य में भी पीएनएम बैठक समय पर और सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न होती रहेगी और कर्मचारियों की समस्याओं का सार्थक समाधान किया जा सकेगा। बैठक का संचालन उप मुख्य कार्मिक अधिकारी (औ.सं.) श्री एम.एल. नागदा द्वारा किया गया।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार