Monday, April 22, 2024
spot_img
Homeखबरेंअयोध्या में रामलला के मंदिर की स्थापना के साथ भारत को सांस्कृतिक...

अयोध्या में रामलला के मंदिर की स्थापना के साथ भारत को सांस्कृतिक स्वतंत्रता- अमरजीत मिश्र

देश की सांस्कृतिक वैभव की विरासत का आदर

मुंबई बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष व महाराष्ट्र के पूर्व राज्यमंत्री अमरजीत मिश्र ने आज यहाँ कहा कि यह सच है कि देश को १५ अगस्त १९४७ में आज़ादी मिली थी पर यह भी सच है कि भारत को २२ जनवरी २०२४ को सांस्कृतिक स्वतंत्रता मिलने जा रही है।अपने दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को गोरखपुर पहुँचे मुंबई के भाजपा नेता अमरजीत मिश्र बिहार – झारखंड भाजपा के क्षेत्रीय संगठन मंत्री नागेंद्र की माताजी की श्रद्धांजलि सभा में हिस्सा लेने उनके पैतृक गाँव बेलौली, संत कबीरनगर गए। जहां उनके साथ चंदौली के विधायक सुशील सिंह, प्रदेश भाजपा की नेता मीना चौबे समेत बिहार यूपी के हज़ारों नेताओं ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। गोरखपुर सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में मुंबई के नेता अमरजीत मिश्र ने २२ जनवरी को ही केंद्र सरकार द्वारा भगवान श्रीराम के साथ माता शबरी व निषादराज पर निकाले जाने वाले डाक टिकट को भारत की सांस्कृतिक वैभव की विरासत बताया और कहा कि केंद्र के इस कदम से जातिवादी व सामंतवादी सोच का तो पराभव होता ही है, साथ ही भक्त के समर्पण व निष्ठा का भी आदर किया गया है।

श्री मिश्र ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के कार्यकाल में अयोध्या आये कारसेवकों पर हुए बर्बरतापूर्ण कार्रवाई की याद कर रूह काँप जाती है। उन्होंने कहा कि यह बिडंबना ही थी कि १९४७ के बाद जिन काले अंग्रेजों के पास सत्ता आई वे तो ठाठ में थे और जगत नियंता मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम टाट में थे। त्रेता में भगवान राम को चौदह वर्षों का वनवास झेलना पड़ा था लेकिन कलयुग में पाँच सौ साल का वनवास झेलना पड़ा।श्री मिश्र ने ख़ुशी व्यक्त करते हुए कहा कि इन कलियुगी कैकेयियों और मंथराओं की कूटनीतियों को मात देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भगवान श्रीराम का अयोध्या में भव्य मंदिर बनवा कर सनातन की ध्वजा को बुलंद किया है।

अमरजीत मिश्र ने कहा कि आगामी 22 जनवरी को करोड़ों देशवासियों का रामलला को उनकी जन्मस्थली पर विराजमान करने का संकल्प पूर्ण होने जा रहा है। आज रामलला उस समय अपने जन्मस्थान में विराजमान हो रहे हैं, जब भारत दुनिया की पांचवी अर्थव्यवस्था बन चुका है, सनातन संस्कृति का परचम चारों ओर लहरा रहा है, चाँद पर भारत का चंद्रयान उतर चुका है, सूर्य के चारों ओर आदित्य एल-1 चक्कर लगा रहा है! पूरा विश्व भारत की बात कर रहा है!

श्री मिश्र ने कहा कि सनातन का भगवा ध्वज चारों ओर फिर से लहरा रहा है! हम दुनिया को आपदा से बचाने के लिये कोरोना की मुफ्त वैक्सीन प्रदान करने में सक्षम हो चुके हैं! आज हमारे देश के नेतृत्व का लोहा सारे विश्व के नेता मान रहे हैं, यही नहीं प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश पहली बार गुलामी की मानसिकता से बाहर आने में सफल हुआ है। आज काशी में बाबा विश्वनाथ मंदिर के भव्य कॉरिडोर का बनना, उज्जैन में महाकाललोक कॉरिडोर का बनना, केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम का सौंदर्यीकरण होना, केदारनाथ तथा हेमकुन्ड साहिब के लिये रोपवे का निर्माण इस बात का स्पष्ट संकेत है कि आज हमारे मंदिरों का ही नहीं बल्कि हमारी संस्कृति का भी संरक्षण और संवर्धन हो रहा है। भाजपा नेता अमरजीत मिश्र ने कहा कि रामभक्तों पर गोली चलाने वाले न तो राम मंदिर बना पाते, न धारा 370 हटा पाते और न ही तीन तलाक हटा पाते। यह प्रधानमंत्री मोदी की ही क्षमता है जो बिना झुके, थके व डिगे अपने कर्तव्यपथ पर आगे बढ़ते ही रहे।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार