ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

जियो तो ऐसे जियो
 

  • पाकिस्तान को मुँहतोड़ जवाब देने वाली ईनम गंभीर

    पाकिस्तान को मुँहतोड़ जवाब देने वाली ईनम गंभीर

    अगर आज के दिन किसी का नाम इंटरनेट की दुनिया में छाया हुआ है तो वह किसी और का नहीं बल्‍कि ईनम गंभीर का है. जी हां, ईनम गंभीर कोई और नहीं बल्‍कि संयुक्‍त राष्‍ट्र में भारत की पहली स्‍थाई सचिव हैं. ईनम ने शुक्रवार को संयुक्‍त राष्‍ट्र की आम सभा में पाकिस्‍तान को ऐसा करारा जवाब दिया कि वहां मौजूद हर कोई शख्‍स हैरान रह गया.

  • नरेन्द्र मोदी को नरेन्द्र मोदी बनाने वाले स्व. लक्ष्मण माधवराव इनामदार

    नरेन्द्र मोदी को नरेन्द्र मोदी बनाने वाले स्व. लक्ष्मण माधवराव इनामदार

    यह संयोग की बात है कि आज जिस विचारधारा को समस्त भारत ने मुख्यधारा बनाना पसंद किया है, उसके दो प्रमुख प्रवर्तकों की यह जन्मसदी वर्ष है।

  • ट्वीटर पर अपनी प्रशंसक को लंच पर आमंत्रित किया पुनीत गोयनका ने

    ट्वीटर पर अपनी प्रशंसक को लंच पर आमंत्रित किया पुनीत गोयनका ने

    ज़ी एंटरटेनमेंट लि. के एमडी व सीईओ श्री पुनीत गोयनका के ट्वीटर फॉलोअर्स की संख्या एक मिलियन होने पर उन्होंने अपनी एक मिलियंस फॉलोअर मंजरी सोनार को अपने ऑफिस में लंच पर आमंत्रित कर उसे चौंका दिया।

  • यहाँ मात्र एक रूपये में गरीबों को मिलता है भरपेट खाना

    विदिशा में सार्वजनिक सेवा समिति भी 35 साल से गरीबों को एक रुपए में भोजन करा रही है। इसकी शुरुआत आपातकाल काल के दौरान कुछ लोगों ने गरीब बस्तियों में फल बांटने से की थी।

  • पहिये पर घूमती लायब्रेरी की 30 साल की सफल यात्रा

    पहिये पर घूमती लायब्रेरी की 30 साल की सफल यात्रा

    इंदौर। तीस साल पहले साइकिल से एक रुचि के रुप में पांच किताबों से शुरू की गई शहर के 45 वर्षीय श्याम अग्रवाल की चलती फिरती लाइब्रेरी में आज हजारों किताबें हैं और इंदौरियन्स के लिए स्कूटर पर चलने वाली इस बुक ऑन व्हील्स में स्टोरी बुक्स, नोवेल, मेगजीन्स, कॉमिक्स सब कुछ किताबें उपलब्ध है।

  • स्व. मुखर्जी का प्रेरक जीवन

    स्व. मुखर्जी का प्रेरक जीवन

    जीवन एक अवसर है, अपने ही जीवन के सृजन और पुनर्सृजन का अवसर। किसी की चार दिन की ज़िंदगी में सार होता है तो किसी का सौ बरस का जीना भी निस्सार होता है। किसी के एक आंसू पर हजारों दिल तड़प उठते हैं तो ऐसा भी होता है कई बार कि किसी के उम्र भर के रोने की भी कई परवाह नहीं करता है।

  • कभी ‘चिंतन’ पर ही ‘चिंतन’ कर देखें

    जीवन, वास्तव में सुख-दुःख, आशा-निराशा, उतार-चढ़ाव और हानि-लाभ का चमत्कारिक मेला जैसा है।

  • श्री अश्वनी लोहानी ने शुरू की काम की संस्कृति

    श्री अश्वनी लोहानी ने शुरू की काम की संस्कृति

    किसी सरकारी दफ्तर में जाईये या किसी कॉर्पोरेट ऑफिस में, आपको शाद ही कभी ऐसा देखने को मिले कि ऑफिस का शीर्ष अधिकारी और उसके मातहत काम करने वाले कर्मचारी एक साथ बैठकर खाना खा रहे हों। मुंबई जैसे शहर में इतना जरुर है कि सभी एक ही कैंटीन में खाना खाते हैं

  • भयमुक्त इंसान ही आनन्द का पात्र

    भयमुक्त इंसान ही आनन्द का पात्र

    वर्तमान की जटिल जीवन शैली के कारण आज के जनमानस पर असुरक्षा एवं भय का व्यापक प्रभाव दृष्टिगोचर हो रहा है। उससे मुक्त होने के लिए अपनी वृत्तियों और भावनाओं में सकारात्मक सोच को विकसित करना होगा अन्यथा इस समस्या से छुटकारा नहीं पा सकते। दूसरों का सहयोग और मार्गदर्शन एक सीमा तक उपयोगी हो सकता है, लेकिन चलना स्वयं को ही होगा, बंधनमुक्त बनना होगा।

  • इस ईमानदार न्यायाधीश ने लिखा राम-रहीम का भविष्य

    इस ईमानदार न्यायाधीश ने लिखा राम-रहीम का भविष्य

    चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रेप के मामले में दोषी ठहराने और सजा सुनाने वाले सीबीआई के स्पेशल जज जगदीप को उनकी ईमानदार और सख्त छवि के लिए जाना जाता है। इस हाईप्रोफाइल मामले में भी उन पर डेरे के समर्थकों समेत राजनीतिक हलकों से भी दबाव था।

  • Page 2 of 28
    1 2 3 4 28

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top

Page 2 of 28
1 2 3 4 28