आप यहाँ है :

कोकाकोला भारत से बिदा होना चाहती है

नई दिल्ली । दुनिया की दिग्गज कोल्ड ड्रिंक्स कंपनी कोका कोला ने भारत में अपनी फैक्ट्रियां बंद करने की धमकी दी है। कंपनी का कहना है कि सरकार यदि जीएसटी पर गठित अरविंद सुब्रमण्यन समिति की रिपोर्ट के मुताबिक 40 पर्सेंट टैक्स लगाती है तो वह अपनी यूनिटों को बंद करने का फैसला लेगी। कोका कोला इंडिया और साउथ वेस्ट एशिया के प्रेजिडेंट वेंकटेश किनी ने बताया, ‘हम भारत में 56 फैक्ट्रियों का संचालन करते हैं। यदि सुब्रमण्यन समिति के प्रस्तावों को अमल में लाया जाता है तो हमें भारत में अपनी यूनिट्स को बंद करना होगा।’
कोका कोला के अध्यक्ष ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया, ‘इस दिशा में सरकार का कोई भी कदम हमारे कारोबार के लिए विभिन्न चुनौतियों को बढ़ाएगा। इससे हमें बड़ा नुकसान होगा। हमारे 30 लाख रिटेलर हैं, हजारों डिस्ट्रिब्यूट और बॉटलर हैं। लेकिन सरकार के फैसले से पूरी चेन को नुकसान होगा और हमारा इको सिस्टम प्रभावित होगा।’
फिलहाल 14 हजार करोड़ की सॉफ्ट ड्रिंक्स इंडस्ट्री की एक्साइज ड्यूटी में 18 पर्सेंट की हिस्सेदारी है। इस बाजार में कोका कोला और पेप्सीको सबसे महत्वपूर्ण कंपनियां हैं। कंपनी ने कहा कि भारत में प्रति व्यक्ति सॉफ्ट ड्रिंक्स की सबसे कम खपत है, लेकिन इस तरह का टैक्स हमें बुरी तरह प्रभावित करेगा। कोका कोला ने कहा, ‘सरकार की ओर से टैक्स में इजाफा करने के पिछले साल के फैसले को हमने अपनाया था। इसकी वजह से हमें अपने प्रॉडक्ट्स की कीमतों को बढ़ाना पड़ा। सॉफ्ट ड्रिंक की एक बोतल का दाम 10 रुपये से बढ़कर 12 रुपये हो गया।’

कोका कोला के प्रेजिडेंट वेंकटेश किनी ने कहा, ‘दामों में इजाफे की वजह से सॉफ्ट ड्रिंक्स की मांग में गिरावट आई है। ऐसे में 40 पर्सेंट टैक्स का इजाफा तो कारोबार को बेहद मुश्किल हो जाएगा।’

साभार- हिन्दुस्तान टाईम्स से

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top