आप यहाँ है :

डॉ. चंद्रा ने कहा कि अच्‍छा नेता वही होता है, जो लोगों के लिए त्‍याग करे

राज्‍यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा ने शुक्रवार को भोपाल में आयोजित इंडो-आसियान यूथ समिट को संबोधित किया. समिट में 175 युवा प्रतिनिधि हिस्‍सा ले रहे हैं. समिट को संबोधित करते हुए डॉ. चंद्रा ने कहा कि अच्‍छा नेता वही होता है, जो लोगों के लिए त्‍याग करे. उन्‍होंने कहा कि मेरा सार्वजनिक जीवन लोगों की सेवा के लिए है. मैं राजनीत‍ि में लोगों की सेवा करने के लिए आया हूं. मैं हर दिन कुछ न कुछ नया सीखता हूं. इस दौरान ‘गवर्नेंस एंड पॉलिटी’ विषय पर चर्चा हुई. यह कार्यक्रम आसियान-भारत वार्ता साझेदारी की 25वीं वर्षगांठ के अवसर पर भोपाल में आयोजित किया गया. इस दौरान बीजेपी के राष्‍ट्रीय महासचिव राम माधव ने डॉ. सुभाष चंद्रा को भारत का मीडिया मुगल बताया. आसियान के इस ‘इंडिया आसियान यूथ समिट’ को भारत सरकार के विदेश मंत्रालय और युवा मामले मंत्रालय के साथ ही मध्यप्रदेश सरकार और इंडिया फाउंडेशन संयुक्त रूप से आयोजित कर रहे हैं.

डॉ. चंद्रा के संबोधन की खास बातें

अच्‍छा नेता वहीं जो लोगों के लिए त्‍याग करे

मेरा सार्वजनिक जीवन लोगों की सेवा के लिए है

मैं राजनीति में लोगों की सेवा के लिए आया हूं

मैं हर दिन कुछ न कुछ नया सीखता हूं

25वीं वर्षगांठ पर आयोजित इस समिट की थीम ‘साझा मूल्य, सामान्य भाग्य’ है. समिट को केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज भी संबोधित करेंगी. समिट में आसियान देशों के प्रतिनिधियों के साथ ही भारत के विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि, बिजनेस, शासकीय सेवा, मीडिया, कला, संस्कृति, लेखन क्षेत्र के लोग हिस्‍सा ले रहे हैं. आसियान देशों में भारत सहित थाइलैंड, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, वियतनाम, फिलिपीन, ब्रुनेई, कंबोडिया और लाओस शामिल हैं.

मध्‍यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को शुभारंभ समारोह अवसर पर कहा था कि पूरा विश्व आतंकवाद से जूझ रहा है. हम सब युवाओं को इससे लड़ने की जरूरत है. उस मानसिकता को समाप्त करें, जो आतंकवाद को पैदा करती हैं. उन्होंने कहा कि भारत सहित आसियान के देशों में बड़ी तादात में लोग गरीबी रेखा से नीचे हैं.

अपनी सरकार द्वारा गरीबी उन्मूलन के लिए उठाए गए विभिन्न योजनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि गरीबी खत्म करने के लिए युवा नेताओं को अपने-अपने देशों की सरकार के साथ मिलकर लड़ाई लड़नी चाहिए, ताकि दुनिया की गरीबी खत्म हो जाए.

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top