ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

स्वस्थ भारत यात्री पहुंचे पूणे, जरूरतमंद लोगों ने किया स्वागत

· कोंडवा के चन्द्रा नर्सिंग होम में हो रहा है जनऔषधि का रिकार्डतोड़ इस्तेमाल

· स्वस्थ भारत यात्री दल आगा खाँ पैलेस पहुंचा, बा बापू को दी श्रद्धांजलि

· हेमा म्हस्के बनीं स्वस्थ भारत अभियान की जिला संयोजक

· कहीं अक्षत कुमकुम तो कहीं शॉल श्रीफल से यात्रियों का हुआ भव्य स्वागत

· जनऔषधि केन्द्रों के संचालकों ने लिया संकल्प, जन-जन तक पहुंचाएंगे जेनरिक
दवाइयां

पुणे। मुंबई, पालघर से चलकर देर रात पूणे पहुंचने पर पूणे के वडगांव शेरी इलाके के महिलाओं ने स्वस्थ भारत यात्रियों का अक्षत-कुमकुम लगाकर एवं आरती उतारकर हर्षौल्लास से स्वागत किया। इस अवसर पर जहां एक ओर महिलाओं के साथ-साथ इलाके के युवा एवं बुजुर्ग भी मौजूद थे। वही दूसरी ओर प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना के केन्द्र संचालकों द्वारा चन्द्रा नर्सिंग होम, कोंडवा में आयोजित एक अन्य सभा में यात्रियों का शॉल और श्रीफल देकर सम्मान किया गया। पूणे में विभिन्न कार्यक्रमो के बीच स्वस्थ भारत अभियान को सघन करने की जिम्मेदारी वडगांव शेरी की सक्रिय समाजकर्मी हेमा म्हस्के को दिया गया और उन्हें इस अभियान के लिये पूणे जिला संयोजक मनोनित किया गया।

चन्द्रा नर्सिंग होम में आयोजित सभा का उद्घाटन करते हुए स्वस्थ भारत यात्रा के प्रमुख आशुतोष कुमार सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र में स्वस्थ भारत यात्रा को लेकर काफी उत्साह है। जनऔषधि केन्द्रों के संचालकों के साथ-साथ महिलाएं और युवा स्वस्थ भारत के अभियान को भरपूर समर्थन दे रहे हैं। श्री सिंह ने इस बात पर जोर दिया कि जन-जन तक यह जानकारी अवश्य पहुंचाई जानी चाहिए कि वास्तव में जेनरिक दवाई होती क्या है? उन्होंने बताया कि जेनरिक दवाई सस्ती होती है और कारगर भी। जबकि डॉक्टर रोगियों के लिए ब्रांडेड दवाइयों की सिफारिश करते हैं। उन्होंने जनऔषधि केन्द्र के संचालकों से अपील की कि वे जेनरिक दवाइयों के महत्व को बताने के लिए आम लोगो के बीच व्यापक प्रचार अभियान चलाएं। इसके लिए पोस्टर छपवाएं, पैम्पलेट्स बांटे और जगह-जगह जागृति सभाएं आयोजित करें।

 

वरिष्ठ गांधीवादी चिंतक प्रसून लतांत ने महाराष्ट्र के लोगो की की कर्मठ्ता की प्रशंसा करते हुए कहा कि आम तौर पर राजनैतिक, आर्थिक और मनोरंजन के लिए बड़े-बड़े आयोजन होते हैं लेकिन गरीब लोगों की सेहत और चिकित्सा को लेकर न के बराबर ही बैठकें या सभाए होती हैं। उन्होंने स्वस्थ भारत अभियान को स्वास्थ्य जागृति की दृष्टि से महत्वपूर्ण और अनूठा कार्यक्रम बताया। प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना के महाराष्ट्र एवं गोवा के डिप्यूटी मैनेजर श्रीपाल समदरिया ने कहा कि प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना की अधिक जरूरत ग्रामीण क्षेत्रों को है इसलिए हमारा प्रयास है कि ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक केन्द्र खोलों ताकि आर्थिक दृष्टि से कमजोर लोगों को इसका अधिकतम लाभ मिल सके। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के 3 जिलों रत्नागिरी, गढचिरौली एवंवाशिम को छोड़कर बाकी सभी जिलों में जनऔषधि केन्द्र हैं। हम जल्द ही इन 3 जिलों में भी जनऔषधि केन्द्र खोलने जा रहे हैं। इस सभा में पूणे में 2016 में पहला जनऔषधि केन्द्र खोलने वाले प्रवीण जोशी ने कहा कि शुरू में काफी दिक्कत आती थी, लोग इसे समझ नहीं पाते थे लेकिन अब इसे लेकर लोगों में जागरूकता फैली है। उन्होंने कहा कि उनके केन्द्र की विश्वसनीयता इतनी अधिक बढ़ गई है कि कोलकाता और जम्मू के लोग भी यहाँ से जनऔषधि मंगवाते हैं।

जेनरिक दवाइयों की गुणवत्ता पर सवाल उठाने वालों को करारा जवाब देते हुए चन्द्रा नर्सिंग होम की डॉ विजयालक्ष्मी मुरूड़ ने बताया कि उनके नर्सिंग होम में विगत 26 जनवरी को हुए 208 ऑपरेशनों में जरूरी सभी दवाइयां जनऔषधि केन्द्रों से ही ली गई, जो कि एक रिकॉर्ड है। इस मौके पर चन्द्रा नर्सिंग होम की फार्मासिस्ट रुपाली ताकवणे ने कहा कि हम लोगो को केवल जनऔषधि लेने की ही सलाह देते हैं यहां आने वाले मरीजों एवं परिजनों कोई और दवाई लेने की जरूरत नहीं पड़ती। सभा में वरिष्ठ आयुर्वेदाचार्य व यात्री दल सदस्य डॉ सोम शेखर ने लोगों को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देने पर जोर दिया और खूब खाओ, मस्त और स्वस्थ रहो का मूल मंत्र देते हुए कहा कि ऐसा कर के आप आयुष्मान हो सकते हैं।

 

 

इस मौके पर स्वस्थ भारत यात्री दल के मीडिया को-ऑर्डिनेटर अशोक प्रियदर्शी ने बताया कि हमारी यात्रा महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती वर्ष में स्वस्थ भारत यात्रा-२ का ध्येय वाक्य “स्वस्थ भारत के तीन आयामः जनऔषधि, पोषण और आयुष्मान” है। इस विषय पर लोगों को जागरूक करने के लिए विगत 30 जनवरी, साबरमती से स्वस्थ भारत यात्रा-२ शुरू हुई है। यात्री दल गुजरात के बाद महाराष्ट्र में मुबई,पालघर और पुणे में विभिन्न स्थानीय के सहयोग से विभिन्न कार्यक्रम कर चुका है और अब हमारा अगला पड़ाव कनेरी मठ,कोल्हापुर है।

इसके पूर्व सभा के आयोजको ने जहाँ यात्री दल का शॉल, श्रीफल और पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया। धनवंतरी पूजन से शुरू हुए इस आयोजन में एक ओर जहां मराठी में स्वागत गान प्रस्तुत किया, वहीं स्वस्थ भारत यात्रा गीत के माध्यम से जनऔषधि, पोषण व आयुष्मान के बारे में उपस्थित लोगों को जागरूक किया गया। स्वस्थ भारत यात्रा गीत को बॉलीवुड के जाने-माने गीतकार संजू फेम शेखर अस्तित्व ने लिखा है।

इस अवसर पर स्वस्थ भारत न्यास द्वारा यात्रा में सहयोग करने वालों को आभार-पत्र व सहभागिता पत्र देकर सम्मानित किया गया। चंद्रा नर्सिंग होम, श्रीपाल समदरिया और प्रकाश रोकड़े को जहां आभार पत्र दिया गया वहीं विजया लक्ष्मी मुरूड़ को सभगाति पत्र दिया गया। इस अवसर पर उपस्थित सभी लोगों को स्वस्थ भारत यात्रा पुस्तिका व जेनरिकोनॉमिक्स भेंट की गई। इस अवसर पर यात्री दल के प्रियंका सिंह, विनोद रोहिल्ला, पवन कुमार, विवेक शर्मा व शंभू कुमार सहित सैकड़ों समाजकर्मी उपस्थित रहे।

बाक्स

अलग रंग में दिखे वडगाम शेरी के लोग

पालघर से मुंबई होते हुए आधी रात को पूणे पहुंचे स्वस्थ भारत यात्री दल का अहमदनगर रोड स्थित वडगाम शेरी की महिलाओं ने भव्य स्वागत किया। गजब का उत्साह एवं हर्षोल्लास का माहौल वहां पर देखने को मिला। युवाओं और महिलाओं के अलावा बुजर्गों ने भी घंटो यात्री दल के आने की प्रतीक्षा की। यात्री दल के पहुंचने पर अक्षत, कुमकुम और आरती कर स्थानीय महिलाओं ने स्वागत किया। स्वस्थ भारत न्यास के चेयरमैन आशुतोष कुमार सिंह ने विलंब से पहुंचने पर अफसोस जताते हुए कहा कि, आधी रात को भी जिस आत्मीयता के साथ हम लोगो का स्वागत सम्मान हुआ है, उससे मैं भावविभोर हूं। उन्होंने कहा कि इतनी संख्या में आपलोगों की उपस्थिति से यह पता चलता है कि इस यात्रा के मकसद को लेकर आप कितने संजीदा हैं। आपकी यह संजीदगी गर देश के कोने-कोने तक पहुंच पाए तो निश्चित रूप से देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगो का जीवन आसान हो जायगा और उनके हजारों करोड़ रुपये बचेंगे। इस मौके पर वडगाँव शेरी की सक्रीय समाज कर्मी हेमा म्हस्के स्वस्थ भारत अभियान की पूणे जिले की संयोजक बनाई गई।

महात्मा गांधी की 150वी जयंती वर्ष पर राष्ट्र व्यापी यात्रा पर निकले स्वस्थ भारत यात्रा दल के सदस्य आगा खाँ महल पहुचे, जहाँ महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। आगा खाँ महल में भारत छोडो आंदोलन के दौरान महात्मा गांधी सहित उनके सहयोगियो को ब्रिटिश हुकूमत ने नजरबंद किया था। नजरबंदी के दौरान महात्मा गांधी की पत्नी कस्तूर्बा गांधी और उनके निजी सचीव महादेव देसाई का निधन हो गया था। आज यह स्थल गांधी महत्व के स्थल के रूप में विश्व विख्यात है।

संपर्क

अशोक प्रियदर्शी

मीडिया को-आर्डिनेटर, स्वस्थ भारत यात्रा-2

9811128964/9891228151

Swasth Bharat (Trust)

C-90, UGF-003,Srichand Park,
Matiyala Village, Uttam Nagar, New Delhi-110059
www.swasthbharat.org.in
www.swasthbharat.in
www.facebook.com/swasthbharaabhiyan
twitter.com/swasth_bharat
Email-forhealthyindia@gmail.com
Mo-9811288151/9891228151
9810939766



Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top