आप यहाँ है :

जानिए उस साइट के बारे में जिस पर मोदी ने बनाया है अकाउंट

चाइना की यात्रा पर जाने से पहले पीएम मोदी ने वहां की बेहद प्रसिद्ध सोशल नेटवर्किंग साइट वेइबो पर आमद दर्ज कराई और चाइनीज में मैसेज लिखा। इसके बाद से लगातार भारत के लोग इस वेबसाइट में जानने की कोशिश कर रहे हैं। चलिए हम आपको बताते हैं इस वेबसाइट से जुड़े कुछ बेहद खास तथ्य:

1. वेइबो का असली नाम सिना वेइबो था। यह ट्विटर और फेसबुक का मिक्चर है।
2. चाइना में वेइबो का अर्थ माइक्रोब्लॉगिंग होता है।
3. दरअसल सिना वेइबो को टेन्सेन्ट वेइबो जैसी अन्य माइक्रोब्लॉगिंग साइटों से जबरदस्त चुनौती मिल रही थी जिसके बाद उसने अपना नाम बदल दिया।
4. ट्विटर की तरह वेइबो में भी 140 कैरेक्टर की लिमिट है। फेसबुक की तरह इसमें इमोटिकॉन्स, फोटो और वीडियो भी शेयर किए जा सकते हैं।
5. लोग फेसबुक की तरह इसके पोस्ट पर कमेंट भी कर सकते हैं। ट्विटर की तरह पोस्ट पब्लिक होती हैं।
6. चीन में फेसबुक और ट्विटर दोनों ही बैन हैं इसलिए वहां के लोगों के पास स्थानीय सोशल साइटें हीं उपलब्ध हैं।
7. चीन में वेइबो बहुत प्रसिद्ध है, वहां के 30 प्रतिशत इंटरनेट यूजर्स वेइबो का इस्तेमाल करते हैं। कंपनी अब इसका अंग्रेजी वर्जन भी डवलप कर रही है, हालांकि अभी इसे पब्लिक के लिए नहीं खोला गया है।
8. वेइबो अपने इस्तेमालकर्ताओं के उत्साहवर्धन के लिए मेडल सिस्टम का सहारा लेती है। यहां गेम खेलने पर, अधिक एक्टिविटी पर मेडल दिया जाता है। आप अपने मेडल के साथ दूसरों के मेडल भी देख सकते हैं।
9. आपको इस पर पोस्ट करने से पहले काफी कुछ सोचना पड़ेगा क्योंकि इस पर सेंसर भी है।
10. वेइबो चीन की सरकार के साथ मिलकर कंटेंट को सेंसर करती है और तमाम ऐसी चीजें रिमूव कर देती है जो उसे गलत लगती हैं। हालांकि इस पर सरकार के खिलाफ अन्य वेबसाइटों से अधिक लिखा जाता है और ये इसकी इजाजत देती है।

खबर लिखे जाने तक 32 हजार से अधिक लोग पीएम मोदी को वेइबो पर फॉलो कर रहे हैं। गौरतलब है कि 14 मई से पीएम की तीन दिवसीय यात्रा शुरु हो रही है और इसी के मद्देनज़र पीएम ने चीनी सोशल मीडिया में कदम रखा है।

एक चीनी साइट पर बताया गया है कि सितंबर 2013 में वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादूरो ने चीन की अपनी यात्रा से पहले इसी तरह अपना अकाउंट खोला था। साथ ही ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन सहित दूसरे देशों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के 200 से ज्यादा नेताओं ने पिछले साल माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर अकाउंट खोला था।​

साभार-दैनिक हिन्दुस्तान से

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top