आप यहाँ है :

पड़ोसियों से दोस्ताना संबंध न होना एक बड़ी समस्या

प्रधान मंत्री के सुरक्षा सलाहकार श्री अजीत डोभाल का कहना है कि ऎसा एक भी पड़ोसी देश नहीं है जिसके साथ भारत को परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि मैनेजिंग सिक्यॉरिटी की सबसे बड़ी समस्या ही पड़ोसी देशों से ज्यादा दोस्ताना संबंध न होना है। इंटेलिजेंस ब्यूरो के चीफ रह चुके डोभाल ने कहा, "म्यानमार के साथ इनसर्जेसी की समस्या है, बांग्लादेश के साथ गैरकानूनी प्रवासी की समस्या है, तो नेपाल का इस्तेमाल कुख्यात एजेंसिया भारत के खिलाफ गलत इरादों को अंजाम देने के लिए करती हैं।"
 
डोभाल ने कहा, "भारत जैसे बड़े देश की सुरक्षा करना बड़ा काम है। देश की अंतरराष्ट्रीय सीमा बड़ी है और पड़ोसी देशों से हमारे कुछ खास दोस्ताना संबंध भी नहीं हैं। इस पर सबसे बुरा यह है कि हमारे दो पड़ोसी देश परमाणु ताकत भी रखते हैं।" एयरफोर्स के एक इवेंट में डोभाल ने पाकिस्तान व इस्लामाबाद में रेडिकलाइजेशन पर चिंता व्यक्त की।
 
डोभाल ने कहा, "पाकिस्तान में रेडिकलाइजेशन और अफगानिस्तान में समस्याएं भी हमारे लिए चिंता का विषय हैं। हमें पाकिस्तानी सरकार पर संशय है कि वे अपनी सरजमीं पर इसे पूरी तरह से कंट्रोल में कर सकेंगे।" डोभाल ने कहा कि भारत पाकिस्तान के साथ तमाम समस्याओं को न्यायपूर्वक सुलझाना चाहता है और इसके लिए प्रयासरत है। 

.



सम्बंधित लेख
 

Back to Top