ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

ताजमहल की सच्चाई जानने के लिए ये पुस्तकें पढ़िये

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में एक याचिका दायर की गई है. इसमें मांग की गई है कि (ASI) को ताजमहल के 22 कमरे खोलने की इजाजत दी जाए, जिससे यह पता चल सके कि वहां हिंदू मूर्तियां और शिलालेख छिपे हैं या नहीं.

ताजमहल को लेकर इतिहासकार पीएन ओक जी ने ताजमहल के शिव मंदिर होने से संबंधित कई दावे किए थे. कुछ इतिहासकारों का यह भी दावा है कि ताजमहल में मुख्य मकबरे व चमेली फर्श के नीचे 22 कमरे बने हैं, जिन्हें बंद कर दिया गया है. चमेली फर्श पर यमुना की तरफ बने बेसमेंट में नीचे जाने के लिए दो जगह सीढ़ियां बनी हुई हैं. करीब 45 साल पहले सीढ़ियों से नीचे जाने का रास्ता खुला था.

पुरुषोत्तम नागेश ओक जी का खोज पूर्ण साहित्य. सभी पुस्तकें पेपरबैक संस्करण हैं। स्कूल कालिज और यूनिवर्सिटी मे जो इतिहास पढ़ाया जा रहा है वह वामपंथियों द्वारा गढ़ा है। उसका उद्देश्य आत्मसम्मान को नष्ट करना है. लुटेरों को महान बताने में वामपंथियों की विशेषज्ञता है.

NCERT की पुस्तकों में दशकों से यह झूठ पढ़ाया जा रहा है कि मुगलों ने हिंदू मंदिरों का नवनिर्माण कराया। जब RTI लगा कर यह पूछा गया कि इसका संदर्भ (सबूत) दीजिए तो NCERT ने कहा, इसके श्रोत का हमें भी पता नहीं है। यानी NCRT की पुस्तकों में तथ्य नहीं, लाल लंपटों की बकैती है, यह स्वयं NCERT मान रहा है।

आजादी के बाद से ‘लाल टिड्डे इतिहासकारों’ के लिखे इसी तरह के गलत इतिहास को पढ़ाया जा रहा है, और यही झूठ पढ़ा कर तथाकथित सेक्यूलर नौकरशाही तैयार की जा रही है। राम मंदिर पर भी कोर्ट में कम्युनिस्ट इतिहासकार अपने लिखे झूठ का संदर्भ नहीं दे पाए थे। अदालत ने इनके लिखे इतिहास को तथ्य नहीं, विचार कहा था।
रोमिला थापर ने अपनी पुस्तक ‘भारत का इतिहास’ में लिखा कि वर्ण व्यवस्था का मूल रंगभेद था। जाति के लिए प्रयुक्त होने वाले शब्द वर्ण का अर्थ ही रंग होता है। जबकि सच्चाई इसके बिलकुल विपरीत है. सभी भाषाओं में अनेकार्थी शब्द होते हैं. वर्ण शब्द भी अनेकार्थी है. यहाँ वर्ण शब्द का अर्थ है चुनाव, गुण। औरंगजेब जैसे नरसन्हारक के गुण गाने वाले वामपंथी इतिहासकारों के फैलाए झूठ से बचने के लिए पढिए।

ओक जी का लेखन एक अद्वितीय प्रयास है एतिहासिक सत्य को जानने का।

पुरुषोत्तम नागेश ओक जी पुस्तकें प्राप्ति के लिए Whatsapp करें 7015591564
1- वैदिक विश्व राष्ट्र का इतिहास (4 भाग)- 440 ₹
2- आगरा का लालकिला हिन्दू भवन – 90 ₹
3 दिल्ली का लाल किला लाल कोट – 95 ₹
4 ताजमहल मंदिर भवन – 150 ₹
5 भारतीय इतिहास की भयंकर भूलें – 110 ₹
6 कौन कहता है अकबर महान था?- 110 ₹
7 विश्व इतिहास के विलुप्त अध्याय – 100 ₹
8 भारत मे मुस्लिम सुल्तान (2 भाग)- 220 ₹
9 क्या भारत का इतिहास इसके शत्रुओं द्वारा लिखा गया है?-50 ₹
10 आजाद हिन्द फौज की कहानी- 300 ₹

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Get in Touch

Back to Top