ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे आरपीएफ द्वारा ‘अंतर्राष्ट्रीय गुमशुदा बाल दिवस’ के अवसर पर सामाजिक जागरूकता के लिए नुक्कड़ नाटकों का मंचन

पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल द्वारा गुमशुदा बच्चों को रेस्क्यू एवं उनका संरक्षण करने वाले एनजीओ के साथ मिलकर 25 मई, 2019 को ‘अंतर्राष्ट्रीय गुमशुदा बाल दिवस’ के अवसर पर एक जागरूकता एवं संवेदीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। पश्चिम रेलवे के मुंबई सेंट्रल मंडल के प्रमुख स्टेशनों चर्चगेट, मुंबई सेंट्रल मेन और लोकल, दादर, अंधेरी, बोरीवली, विरार और सूरत स्टेशनों पर यह जागरूकता अभियान चलाया गया, जिसके अंतर्गत विभिन्न स्वयंसेवी संगठनों, चाइल्ड हेल्पलाइन और सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा यात्रियों को शिक्षित करने के लिए विभिन्न नुक्कड़ नाटकों का मंचन किया गया। संवेदीकरण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य संकट में पॅं€से बच्चों के रेल परिसरों में मिलने पर उनकी देखभाल के प्रति यात्रियों को जागरूक करना था।

पश्चिम रेलवे द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार यात्रियों को इस सम्बंध में जागरूक किया गया कि ऐसे बच्चों को देखे जाने पर वे क्या करें? बेहतर देखभाल एवं इन बच्चों के संरक्षण हेतु वे इन्हें एनजीओ को चाइल्ड हेल्पलाइन तथा पुलिस प्राधिकारियों को सौंप सकते हैं।वर्ष 2018 में मुंबई मंडल के अंतर्गत 426 बच्चों को रेस्क्यू कर उन्हें उनके परिवारों से मिलाया गया। उल्लेखनीय है कि मुंबई मंडल में आरपीएफ द्वारा वर्ष 2019 में (अप्रैल तक) 68 बालकों तथा 37 बालिकाओं सहित 105 बच्चों को रेस्क्यू कर उन्हें उनके परिवार से मिलाया जा चुका है।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top