Tuesday, April 16, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिपैक्ड फूड पैक में ही यह आटा बेचा जाए

पैक्ड फूड पैक में ही यह आटा बेचा जाए

गत कुछ वर्षों से हिंदू त्योहारों में कुट्टू का आटा एक विलन बनकर दिखने लगा है। व्रत के दूसरे-तीसरे दिन खबरें आती ही हैं कि कुट्टू के आटे से बने फलाहार से इतने लोग यहां इतने लोग यहां बीमार हुए। अभी महाशिवरात्रि पर भी दिल्ली एनसीआर के अंदर सैकड़ों लोगों को विभिन्न अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। नोएडा के एक ही होस्टल में 250+ विद्यार्थी,

दिल्ली में शादी में आए दर्जनों लोग तथा CRPF जवान भी इसकी चपेट में आए।

प्रश्न उठता है कि क्या कुट्टू के आटे की निर्माण में दोष है या भंडारण में, विक्रेताओं की गड़बड़ी है या फिर उसके पकवान बनाने वाले ने ही सावधानी नहीं बरती!! स्मरण रहे कि पुराना कुट्टू आटा फूड पॉइजनिंग का कारण बनता है। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि इस आटे का सुरक्षित जीवन(Expiry) एक-डेढ़ महीने ही है। हो सकता है कि कुछ दुकानदार या उपभोक्ता पिछले त्यौहार पर खरीदे इस आटे को महिनों बाद अब प्रयोग कर रहे हों? त्योहारों की पवित्रता व लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा हेतु आवश्यक है कि इसकी कमियों को @fssaiindia @MoHFW_INDIA गंभीरता से जांच कर दोषियों को दण्डित कराए तथा जनता को जागरूक करने हेतु भी अविलम्ब आवश्यक कदम उठाए। आवश्यक हो तो कुट्टू के आटे की खुले में बिक्री प्रतिबंधित कर निर्माता के नाम तथा निर्माण व एक्सपायरी की तिथि अंकित सिर्फ पैक्ड फूड पैक में ही यह आटा बेचा जाए। कुट्टू के आटे की जगह व्रत में फलों तथा अन्य वैकल्पिक खाद्य सामग्री का उपयोग भी श्रद्धालुओं को इस संकट से बचा सकता है। ध्यान रहे कि त्यौहारों में सात्विकता, समर्पण व श्रद्धा के साथ पूर्ण सावधानी भी जरूरी है।

विनोद बंसल
राष्ट्रीय प्रवक्ता
विश्व हिंदू परिषद

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार