Sunday, June 16, 2024
spot_img
Homeखेल की दुनियाअटल इनोवेशन मिशन ने स्कूल इनोवेशन चैलेंज एटीएल मैराथन 2023-24 के लिए...

अटल इनोवेशन मिशन ने स्कूल इनोवेशन चैलेंज एटीएल मैराथन 2023-24 के लिए आवेदन मांगे

नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) ने आज एटीएल मैराथन 2023-24′ के लिए आवेदन मांगे हैं। शिक्षा मंत्रालय, युवावाह और यूनिसेफ के सहयोग से इस वर्ष प्रमुख नवाचार चैलेंज को आयोजित किया गया है।

एटीएल मैराथन भारत भर के उन सभी युवा इनोवेटर्स के लिए एक राष्ट्रीय स्तर की नवाचार चुनौती है जो अपनी पसंद की सामुदायिक समस्याओं का समाधान निकालने के साथ-साथ कार्यशील प्रोटोटाइप के रूप में अभिनव समाधान विकसित कर सकते हैं।

मैराथन का पिछला संस्करण भारत भर के स्कूली छात्रों के 12000 से अधिक नवाचारों का साक्षी बना। इस वर्ष की एटीएल मैराथन की थीम “भारत के 75वें गणतंत्र दिवस” पर आधारित है। इस थीम में शामिल विषयों पर छात्र टीमें अंतरिक्ष, कृषि, समावेशिता, आपदा प्रबंधन, गतिशीलता, स्वास्थ्य, शिक्षा और कौशल विकास से जुड़ी परियोजनाएं बना सकती हैं।

शीर्ष टीमों को स्टूडेंट इनोवेटर प्रोग्राम के माध्यम से भारत के प्रमुख कॉरपोरेट्स और इन्क्यूबेशन सेंटरों के साथ इंटर्नशिप का अवसर, एआईएम, नीति आयोग से प्रमाण पत्र और कई अन्य रोमांचक अवसर प्राप्‍त होंगे। अमेज़ॅन वेब सर्विसेज (एडब्ल्यूएस) एटीएल मैराथन के इस संस्करण का मेजबान साझेदार है।

चुनौती का अनावरण करते हुए, एआईएम मिशन निदेशक डॉ. चिंतन वैष्णव ने कहा कि एटीएल मैराथन युवा स्कूली छात्रों के लिए एक बहुत ही रोमांचक अवसर है। छात्र दिए गए किसी भी समस्या कथन पर नवाचार कर सकते हैं या अपने रोजमर्रा के जीवन में आने वाली समस्या पर कार्य कर सकते हैं। एटीएल मैराथन देश भर के सभी स्कूलों के लिए खुला है, चाहे वे अटल टिंकरिंग लैब से जुड़े हों या नहीं। उन्‍होंने कहा कि वह इस वर्ष बहुत बड़ी भागीदारी की उम्मीद कर रहे हैं।

शिक्षा मंत्रालय के सचिव श्री संजय कुमार ने कहाकि वह इस एटीएल मैराथन के शुभारंभ का हिस्सा बनकर बहुत उत्साहित हैं। उन्‍होंने सभी छात्रों और शिक्षकों को इस प्रतियोगिता के लिए शुभकामनाएं दीं। एटीएल में मैराथन टीमएक साथ रहकर सामूहिक आधार पर एक परियोजना पर कार्य करेंगी। एटीएल मैराथन का हिस्सा बनकर बच्चे नवप्रवर्तन से परिचित होंगे और नवप्रवर्तक बनेंगे। 10,000 से अधिक स्कूलों में स्‍कूल नवाचार परिषद हैं। स्कूलों में नवाचार का एक इको सिस्‍टम बनाने के लिए स्‍कूल नवाचार परिषद और एटीएल मैराथन का एक साथ आना बहुत महत्वपूर्ण है।

यूनिसेफ केजेनरेशन अनलिमिटेड के सीईओ केविन फ्रेने कहा कि युवाह जेनरेशन अनलिमिटेड का मिशन दुनिया के 1.8 बिलियन युवाओं को कौशल प्रदान करना और उन्हें रोजगार, उद्यमिता और सामाजिक प्रभाव के अवसरों से जोड़ना है और एटीएल मैराथन इस मिशन को साकार करता है। इस प्रतियोगिता में, युवा छात्रों द्वारा विकसित कौशल भविष्य के लिए आवश्यक हैं। एटीएल मैराथन शिक्षा के उस उज्‍ज्‍वल भविष्य से जुड़ा है जिसके लिए ये छात्र कार्य कर रहे हैं और अपने समुदाय की वास्तविक समस्याओं का समाधान कर रहे हैं। हम अगले कुछ वर्षों तक इस पर नजर रखेंगे और परिणामों के आधार पर एटीएल मैराथन को विश्व स्तर पर कई और देशों में बढ़ाएंगे।

एटीएल मैराथन की भागीदारी लिंक – https://atl.unisolve.org/

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार