आप यहाँ है :

एग्जिट पोल ने योगी विरोधी पत्रकारों का हाजमा बिगाड़ा

– यूट्यूब चैनल सत्य हिंदी के संपादक आशुतोष के लिए एग्जिट पोल के बाद स्थिति बहुत कठिन हो गई थी । दरअसल आज तक ने जब बीजेपी को 300 के पार पहुंचा दिया तब आशुतोष एकदम रुआंसे से हो गए । वो ये कहने लगे कि लगता है हमारा आंकलन ही गलत होने वाला है । इस पर एक मोदी विरोधी पत्रकार शरत प्रधान ने आशुतोष के लाइव डिबेट में ये कह दिया कि आज तक ने ऐसा एग्जिट पोल दिखाने के लिए बीजेपी से पैसे लिए हैं । अब आशुतोष की हालत और ज्यादा खराब हो गई क्योंकि शरत प्रधान ने ये कहकर उनको एक और मुश्किल में फंसा दिया

-दरअसल बात ये है कि जब भी कोई मीडिया चैनल किसी पत्रकार को अपने शो में बोलने के लिए बुलाता है तो उसको लिफाफे में बंद करके 5 से 10 हजार रुपए देता है… अब आज तक चैनल आशुतोष को भी अपने गेस्ट पैनल में बुलाता रहता है और इससे आशुतोष की दाल रोटी चलती रहती है लेकिन शरत प्रधान ने जब आज तक को ही गरियाना शुरू कर दिया तो आशुतोष को लगा कि अब तो उनकी दाल रोटी पर भी संकट हो जाएगा इसीलिए उन्होंने फौरन शरत प्रधान को टोंकते हुए कहा कि किसी एग्जिट पोल वाले को कुछ नहीं बोलना चाहिए ।

-रवीश कुमार गैंग का एक जिहाद समर्थक चाटुकार पत्रकार आलोक जोशी भी लाइव डिबेट में दहाड़े मार कर रोने ही वाला था कि किसी तरह उसने अपने आपको बचाया । बहुत बुरी स्थिति में उसने ये कहा कि अब अजित अंजुम आशुतोष और सत्य हिंदी पर बैठने वाले सभी पत्रकारों को बुर्का खरीद लेना चाहिए ताकी जब वो सड़क पर जाएं तो कोई उनको पहचान ना सके और उनको शर्मिंदा नहीं होना पड़े । आलोक जोशी ने ये भी कहा कि मैंने तो अपना बुर्का अभी से ही सिलवा लिया है । इस पर आशुतोष ने टोकते हुए कहा कि आप हिंदू हैं और आपको घूंघट करना चाहिए बुर्का आप कैसे पहन सकते हैं ? खैर इस तरह हल्के फुल्के मिजाज के साथ किसी तरह शर्मिंदगी को छुपाने की कोशिश भी हुई

-उधर अजित अंजुम का हाल भी बेहाल हो रहा था । उनके चैनल पर भी एक से एक देश विरोधी पत्रकार बैठे हुए थे । और अक्सर ये पत्रकार मोदी योगी को जी भर कर गालियां देते हुए पाए जाते हैं । लेकिन एक्जिट पोल के बाद हर किसी की बोलती बंद सी हो रही थी । अब योगी को कैसे गाली दें ? यही प्वाइंट ढूंढ निकालने में सब बिजी थे लेकिन उन्होंने योगी के खिलाफ कोई मुद्दा ही नहीं मिल रहा था ।

-बहरहाल अपनी डिबेट के बीच में ही अजित अंजुम ने ये स्वीकार कर लिया कि वो फील्ड में घूमे हैं और हर जगह उनको योगी मोदी के कट्टर समर्थक मिले हैं इसलिए ये तय है कि बीजेपी की सरकार आ रही है । हालांकी ये बात अजित अंजुम ने बहुत बुझे हुए मन से कही । पूरे डिबेट में अजित अंजुम बहुत ज्यादा उदास नजर आए । लेकिन जब कुर्बान अली ने कहा कि अब 2024 में मोदी को योगी चुनौती देने वाले हैं… योगी पीएम कैंडिडेट बन जाएंगे तब अजित अंजुम की बांछें खिल गईं और वो खुश हो गए कि चलो उनको मोदी को पिंच करने का कोई तो मुद्दा मिला

-एग्जिट पोल के बाद से ही मोदी विरोधी गैंग को दस्त शुरू हो गई है… दरअसल ये वो पत्रकार हैं जो कांग्रेस के राज में खूब मलाई चाटते थे… इनको हर तरह की अय्याशियां कांग्रेस सरकार करवाती थी लेकिन अब इनका धंधा पानी चौपट हो गया है यही वजह है कि ये बीते सात साल से हर चुनाव में योगी और मोदी को हराना चाहते हैं लेकिन इनकी चल नहीं पा रही है । जनता का साथ योगी और मोदी को अजेय बना रहा है ।

(लेखक हिंदुत्ववादी विषयों पर प्रामणिकता से लिखते हैं)

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top