Friday, April 19, 2024
spot_img
Homeपत्रिकाकला-संस्कृतिहाड़ोती के साहित्य निर्माण में होगी बड़ी भूमिकाः रामेश्वर शर्मा

हाड़ोती के साहित्य निर्माण में होगी बड़ी भूमिकाः रामेश्वर शर्मा

कोटा 21 फरवरी/ राजकीय सार्वजनिक मण्डल पुस्तकालय, कोटा में पिछले दिनों पांच दिवसीय “लिट्रेचर फेस्टिवल” का आयोजन हुआ. जहाँ तक मेरी स्मृति है,ऐसा आयोजन कोटा में पहलीबार ही हुआ है जिसमें पुस्तकालय के ऊर्जावान पुस्तकालयाध्यक्ष श्रीमान डॉ दीपक श्रीवास्तव जी की दूरदृष्टि और त्वरित संयोजन क्षमता का अद्भुत संगम देखने को मिला।
पाँचदिनों साहित्य का,त्यौहार लगा अलबेला जी,
खूब रहा था पांचो ही दिन,यह सारस्वत मेला जी ।
भांति भांति के विषयों वाली,बुकस्टालेँ खूब लगी,
जहाँ देखके श्रेष्ठ पुस्तकें,सोई पाठक ललक जगी ।
हज़ारों पुस्तकों से सजी प्रख्यात प्रकाशन संस्थानों की बुकस्टालोँ का तो आकर्षण रहा ही, लेकिन हाड़ोती के साहित्यकारों और उनके साहित्य को लेकर जिस प्रकार से शताधिक चर्चा – सत्रोँ का निर्माण किया गया और वे सभी सत्र लगभग 250-300 रचनाकारों के सहज जुड़ाव का माध्यम बने, बनकर डॉ दीपक श्रीवास्तव तथा उनके अन्य सहयोगियों के आयोजन चातुर्य के साक्षी रहे l

स्थानीय एवं हाड़ोती संभाग के दूरस्थ स्थानों से भी इस फेस्टिवल में सहभागिता करने हेतु बड़ी ललक के साथ आये साहित्यकारों का यह अनूठा संगम रहा।

कहने में कोई संकोच नहीं है कि इस पंचदिवसीय “लिट्रेचर फेस्टिवल” ने पहलीबार हाड़ोती में नवीन अभिनव साहित्यिक माहौल निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ख्यातनाम शिक्षाविदों, विश्वविद्यालय के कुलपतियों, संस्कृतिकर्मियों, समाज के सजग नागरिकों, पत्रकारों, सभी ने इसकी मुक्तकंठ से सराहना करी है और भविष्य के लिये बेहतरीन सम्भावनाओं को जगाया है । कह सकता हूँ कि —
चाहे आयोजित हुआ , हो यह पहलीबार
लेकिन पूर्ण सफल था, यह पोथी त्यौहार
ललक जगाई , होवे ऐसा, प्रतिवर्ष हरबार
पात्र बधाई का है पूरा,पुस्तकालय परिवार

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार