Tuesday, June 25, 2024
spot_img
Homeभारत गौरवएशियन गेम्स और विश्वविद्यालयीन स्पोर्ट्स में पदक जीतने वाले कीट खिलाड़ियों ...

एशियन गेम्स और विश्वविद्यालयीन स्पोर्ट्स में पदक जीतने वाले कीट खिलाड़ियों का सम्मान

भुवनेश्वर। : चीन के हांगझू में हाल ही में संपन्न हुए 19वें एशियाई खेलों और चेंग्दू में आयोजित 31वें अन्तर्विश्व विश्वविद्यालयीन खेलों में पदक जीतने वाले कीट खिलाड़ियों को रविवार को कीट और कीस की ओर से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर ओलंपियन अनुराधा विश्वाल, ओडिशा महिला फुटबॉल टीम की कोच श्रद्धांजलि सामंतराय, ओलंपियन दुती चंद, भारत की सबसे तेज धावक अमिय मल्लिक, ओडिशा रग्बी एसोसिएशन के सचिव उपेंद मोहंती, कीट और कीस के संस्थापक प्रो अच्युत सामंत, कीट विश्वविद्यालय के  कुलपति प्रोफेसर शरणजीत सिंह, खेल महानिदेशक डॉ. गगनेंदु दाश प्रमुख ने पदक विजेताओं को सम्मानित किया।
एशियाई खेलों के स्वर्ण विजेता निशानेबाज तजिंदरपाल सिंह और भारतीय हॉकी टीम के रोहिदास को इस मौके पर सम्मानित करने के साथ साथ प्रत्येक को 5-5 लाख रूपये नकद राशि प्रदान किया गया। इसी तरह एशियाई खेलों में भाला फेंक रजत पदक विजेता किशोर कुमार जेना और डिकैथलॉन रजत पदक विजेता तेजस्विन शंकर को 3-3 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि  प्रदान किया गया। वहीं अन्तर्विश्व विश्वविद्यालयीन खेलों में 20 किलोमीटर पैदल चाल में कांस्य पदक विजेता प्रियंका और अम्लान बोर्गोहेन को 2 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई।
इस मौके पर सम्मानित खिलाड़ियों ने ऐसे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि कीट- कीस के संस्थापक प्रो अच्युत सामंत  का खेल और खिलाड़ियों के प्रति असीम प्रेम कहीं और देखने को नहीं मिलता है। उन्होंने कहा कि वे स्वयं कीट विश्वविद्यालय के छात्र होने पर खुद पर गर्व महसूस करते हैं। उन्होंने कहा कि यह सम्मान उन्हें आने वाले दिनों में ओलंपिक में पदक जीतने के लिए प्रेरित करेगा। इस मौके पर खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते हुए प्रो अच्युत सामंता ने कहा कि ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के नेतृत्व में राज्य सरकार हमेशा खेल और खिलाड़ियों को बढ़ावा देती रही है।
प्रो अच्युत सामंत  ने कहा कि राज्य सरकार का अनुसरण करते हुए कीट और कीस शिक्षा के साथ-साथ खेल और खिलाड़ियों को सभी प्रकार के प्रोत्साहन और सहायता प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब तक कीट और कीस 15 ओलंपियन और 5 हजार से अधिक राज्य, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार किये हैं। इस मौके पर कीट विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर सिंह ने कहा कि कीट और कीस जैसा खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देने के मामले में ऐसा किसी अन्य विश्वविद्यालय देखने को नहीं मिलता।
डॉ गगनेंदु दाश ने
खिलाड़ियों की उपलब्धियों के बारे में जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि 19वें एशियाई खेलों में कीट विश्वविद्यालय के 14 खिलाड़ी शामिल  हैं और  31 वें विश्व विश्वविद्यालयीन खेल में 14 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया है। डॉ दाश ने जानकारी दी कि यह पहली बार है कि एक ही विश्वविद्यालय के इतने सारे खिलाड़ियों ने अंतर्राष्ट्रीय खेलों में भाग लिया है।
image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार