Tuesday, April 23, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिप्रेस एवं आवधिक पंजीकरण अधिनियम, 2024 के ड्राफ्ट पर जनता से सुझाव...

प्रेस एवं आवधिक पंजीकरण अधिनियम, 2024 के ड्राफ्ट पर जनता से सुझाव मांगे

सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने प्रेस एवं आवधिक पंजीकरण अधिनियम, 2024 के ड्राफ्ट पर जनता व हितधारक से टिप्पणियां और सुझाव मांगे हैं, जिसके तहत प्रेस एवं आवधिक पंजीकरण अधिनियम, 2023 के प्रावधानों को लागू करने के लिए नियम प्रस्तावित हैं।

संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित होने और राष्ट्रपति की सहमति के बाद प्रेस एवं आवधिक पंजीकरण (पीआरपी) अधिनियम, 2023 को 29 दिसंबर, 2023 को अधिसूचित किया गया था।

यह विधेयक समाचार पत्रों, पत्रिकाओं और पुस्तकों के रजिस्ट्रीकरण का प्रावधान करता है। इसमें पुस्तकों की सूचीकरण की भी व्यवस्था है। इसमें सार्वजनिक समाचार या सार्वजनिक समाचार पर टिप्पणियों वाला कोई भी प्रकाशन शामिल है।

बता दें कि प्रेस एवं पुस्तक पंजीकरण अधिनियम, 1867 इस पीआरपी अधिनियम, 2023 के प्रभावी होने की तारीख से निरस्त हो जाएगा।

टिप्पणियां व सुझाव देने की अंतिम तारीख 4 फरवरी, 2024 है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार