Wednesday, May 22, 2024
spot_img
Homeदुनिया भर कीगौमांस की पार्टी देने वाले से शादी करेगी केरल के मुख्यमंत्री की...

गौमांस की पार्टी देने वाले से शादी करेगी केरल के मुख्यमंत्री की बेटी

तिरुवनंतपुरम। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन की बेटी वीणा की शादी होने जा रही है। वह सीपीआई-एम यूथ विंग, डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया (DYFI) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद रियाज के साथ शादी के बंधन में बंधने जा रही है। यह शादी 15 जून को होगी। इस शादी में दोनों के परिवारों के कुछ खास लोग ही शामिल होंगे। शादी का रजिस्ट्रेशन दोनों पहले ही करा चुके हैं। आपको बता दें कि वीणा और रियाज दोनों
डीवाईएफआई के एक नेता ने बताया कि रियाज और वीणा कई वर्षों से एक दूसरे को जानते हैं। दोनों का तलाक लगभग पांच साल पहले हुआ था। दोनों ने अपनी दोस्ती को अब रिश्ते में बदलने को ठानी है। बताया जा रहा है कि दोनों ने खुद एक दूसरे को चुना है और इस शादी का फैसला लिया है। मोहम्मद रियाज वही शख्स है जिसने पूरे केरल में खुले आम गौ माँस की पार्टियाँ की थी।

वीना की पहली शादी से एक बच्चा है, वहीं रियाज के पहली पत्नी से दो बच्चे हैं। वीना सॉफ्टवेयर इंजिनियर हैं। वीणा बेंगलुरु में अपनी खुद की एक सॉफ्टवेयर कंपनी चलाती हैं। जबकि रियाज की उम्र 39 साल है और वह पेशे से एक वकील हैं।

कॉलेज के दिनों से ही राजनीति में आए रियाज 2009 में कोझीकोड लोकसभा सीट से चुनाव लड़े थे। हालांकि वह कांग्रेस के एमके राघवन से चुनाव हार गए थे। वह DYFI के पहले राष्ट्रीय संयुक्त सचिव थे। 2017 में उन्हें डीवाईएफआई का अध्यक्ष बनाया गया था।

मोहम्मद रियाज कोझिकोड के रहने वाले हैं। उनके पिता पीएम अब्दुल खादर आईपीएस अधिकारी थे। चाचा पीके मोइदेंकुट्टी 1941 में केरल कांग्रेस के अध्यक्ष थे। उन्होंने सेंट जोजफ स्कूल और फारूख कॉलेज में पढ़ाई के दौरान एसएफआई जॉइन किया था। तब वह इसमें एक कार्यकर्ता थे। तमाम पदों पर रहने के बाद वह 2017 में डीवाईएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए थे। वह अभी सीपीएम की राज्य समिति के सदस्य हैं।

37 साल की वीणा बेंगलुरु में एक्सालॉजिक नाम की एक सॉफ्टवेयर कंपनी चलाती हैं। इससे पहले वह ओरेकल में आठ साल तक काम कर चुकी हैं। इसके अलावा वह आरपी टेकसॉफ्ट में दो साल सीईओ के पद पर भी काम कर चुकी हैं। उन्होंने 2015 में स्टार्टअप के तहत अपनी कंपनी लॉन्च की थी।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार