आप यहाँ है :

सुरेश प्रभु को किए एक ट्वीट पर बीमार महिला के इलाज को चलती ट्रेन में पहुंचा डॉक्टर

अभी कुछ दिन पहले ट्रेन में भूख से जूझते बच्चों को रेल मंत्री सुरेश प्रभु को किए एक ट्वीट से खाना पहुंचने की खबर तो आपने सुनी ही होगी, रेलवे की तत्परता का ऐसा ही एक और किस्सा सामने आया है।

जहां एक साल के बेटे के साथ ट्रेन में सफर कर रही महिला को तेज बुखार से पीड़ित होने पर एक ट्वीट पर ही चिकित्सा सहायता उपलब्‍ध करवाई गई। महिला के पति ने रेल मंत्री और रेल अधिकारियों को ट्वीट किया था। जिस पर तुरंत प्रति‌क्रिया हुई और डॉक्टर इलाज करने महिला की सीट पर ही पहुंच गया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार राजस्‍थान के बुधवार को सोनम चौधरी अपने एक साल के बेटे शौर्य के साथ बरेली से भुज जाने वाली एक्सप्रेस में सफर कर रही थी।

नार्दन वेस्टर्न रेलवे के सीपीआरओ तरुण जैन ने बताया कि ट्रेन के दिल्‍ली को क्रॉस करते ही महिला ने अपने पति सोनू चौधरी को फोन कर बताया कि उसकी तबियत बिगड़ती जा रही है, उसे तेज बुखार है। हालांकि साथी पैसेंजर महिला की मदद कर रहे थे लेकिन उसे कोई राहत नहीं मिली।

वहीं पत्नी की हालत लगातार बिगड़ते देख उसके पति सोनू ने दोपहर तीन बजे के करीब रेल मंत्री सुरेश प्रभु और एनडब्लूआर के महाप्रबंधक अनिल सिंघल को ट्वीट किया। इस ट्वीट के बाद काफी तेजी से प्रतिक्रिया हुई और महिला के इलाज के लिए फिजिशियन को तैयार किया गया।

इसके बाद ट्रेन जब दिल्ली जयपुर रूट पर बांदीकुई स्टेशन पहुंची तो डॉक्टर मरीज को देखने के लिए बी1 कोच की सीट नं 40 पर पहुंचा और बुखार से तपती सोनम चौधरी की जांच कर उसे जरूरी दवाइयां दी गई।

रेलवे द्वारा उपलब्‍ध करवाई गई चिकित्सा के बाद महिला के पति सोनू चौधरी ने उससे बात की तो उसने बताया कि अब उसकी तबियत में सुधार है। सोनू ने जरूरत के समय तुरंत चिकित्सा सुविधा उपलब्‍ध कराने के लिए रेल मंत्री और रेलवे के संबंधित अधिकारियों का आभार जताया।

इससे पूर्व बीते 29 नवंबर को भी एक ऐसा ही वाकया सामने आया था जब बैंगलोर में एक युवक पक्षाघात से पीड़ित अपने पिता के साथ ट्रेन में सफर कर रहा था।

युवक इस बात को लेकर परेशान था कि वह अल सुबह कैसे अपने बीमार पिता को लेकर स्टेशन पर उतरेगा। उसने ट्विटर के माध्यम से अपनी दिक्‍कत साझा की तो रेलवे अधिकारियों ने तुंरत उसके पिता को ट्रेन से लाने के लिए कुली और व्हीलचेयर की व्यवस्‍था की।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top