Tuesday, March 5, 2024
spot_img
Homeखबरेंमानव व प्रकृति का अद्भुत एवं अनुपम संतुलन देख गदगद हुए...

मानव व प्रकृति का अद्भुत एवं अनुपम संतुलन देख गदगद हुए राज्यपाल

कोटा 1 मार्च / राजस्थान के राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने मंगलवार को नवनिर्मित सिटीपार्क का अवलोकन कर खुबसूरती को निहारा तथा निर्माण शैली को प्रकृति एवं मानव के बीच संतुलन प्रदर्शित करने वाला बताते हुए देश के प्रमुख स्मारकों में से एक बताया।

गोल्फकार्ट से सम्पूर्ण पार्क का भ्रमण कर इसकी खुबसूरती को नजदीकी से निहारा। उन्होंने विभिन्न ब्लॉकों में विश्वस्तरीय प्रजातियों के फूलों के पौधों, फव्वारों, सघन वन क्षेत्र, तालाबों, नहर, स्टोनब्रिज, मयूरचौक, फ्लेमिंगों कोर्ट, बोटिंगडक, बोटलिंग गार्डन, फूडकोर्ट, म्यूजिक फाउंटेन, ट्रीमैन एव नॉलेज ऑफ फ्रीडम सर्किल का अवलोकन कर ग्लासहाउस में बैठ कर स्वल्पहार लिया। परक के विकास के लिए सरकार के प्रयासों तथा कार्यकारी एजेंसी के रूप नगर विकास न्यास के कार्यो की सराहना की। उन्होंने पार्क में पौधा रोपकर हरियाली बढाने का संदेश दिया।

राज्यपाल ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि यह पार्क अद्भुत है, अनुपम है जो भी कोटा में आये उसे जरूर देखना चाहिए। हिन्दुस्तान भर में गिनी-चुनी जगह होगी जिनमें से यह पार्क एक है। उन्होंने कहा की जीवन में ऐसा उद्यान नहीं देखा। यह उद्यान कोटा ही नहीं राजस्थान की पहचान बनेगा। इसमें प्रकृति व मानव के बीच संतुलन, विद्यार्थियों, युवाओं, बच्चो, बुजुर्गो सभी के लिए विशेषताओं को ध्यान में रखा गया है। सौन्दर्यकरण के साथ विश्वस्तरीय विभिन्न प्रजातियों के पुष्प, नहर, विज्ञान का संदेश देते मूमेंट बनाये गये है। यहां घूमने वालों को शांति का अनुभव होगा।

उन्होंने कहा कोटा में कोचिंग के लिए आने वाले देशभर के विद्यार्थियों के लिए तनाव मुक्ति में सहायक होगा और उन्हें शांति प्रदान करेगा। विद्यार्थियों की प्रेरणा के लिए नॉलेज ऑफ फ्रीडम, ट्री मैन जैसे प्रेरणा दायी सर्किलों का विकास किया गया है।

जिला प्रशासन की ओर से राज्यपाल को ट्री मैन का प्रतीक भेंट किया गया। जिला कलक्टर ओपी बुनकर, पुलिस अधीक्षक शहर शरद चौधरी, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण कावेन्द्र सिंह, नगर विकास न्यास के सचिव राजेश जोशी, विशेषाधिकारी आर.डी. मीणा सहित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार