Tuesday, April 16, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिवाराणसी परिक्षेत्र में एक हज़ार गाँव बने ‘संपूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम’ -...

वाराणसी परिक्षेत्र में एक हज़ार गाँव बने ‘संपूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम’ – पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

डाकघरों में एक ही छत के नीचे तमाम जनोपयोगी सेवाएँ उपलब्ध

वाराणसी। डाकघरों में एक ही छत के नीचे तमाम सेवाएं उपलब्ध कराकर उन्हें बहुद्देशीय बनाया गया है। बदले दौर में डाक विभाग अब पत्र-पार्सल के साथ-साथ सरकार की तमाम जनकल्याणकारी योजनाओं और इनके लाभों को भी लोगों तक पहुँचा रहा है। ऐसे में डाकघरों की सर्वसुलभता बेहद जरुरी है। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने वाराणसी में महमूरगंज उपडाकघर में आयोजित कार्यक्रम में उक्त विचार व्यक्त किए।

इस अवसर पर दीप प्रज्वलन पश्चात महिलाओं को महिला सम्मान बचत पत्र एवं बालिकाओं को सुकन्या समृद्धि खाते की पासबुक देते हुए उनके सुखद भविष्य की कामना की। उन्होंने बताया कि वाराणसी परिक्षेत्र में 3.40 लाख बालिकाओं के सुकन्या समृद्धि खाते खोले जा चुके हैं, वहीं लगभग 1,000 गाँवों में 10 साल तक की सभी योग्य बालिकाओं के खाते खोलते हुए उन्हें ‘सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम’ के रूप में आच्छादित किया जा चुका है। डाकघरों में लोगों की सुविधा हेतु एक ही छत के नीचे डाक, पार्सल मदों की बुकिंग के साथ बचत, बीमा, आईपीपीबी, आधार, कॉमन सर्विस सेंटर, पासपोर्ट, गंगाजल, क्यूआर कोड आधारित डिजिटल भुगतान जैसी तमाम जनोन्मुखी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

वाराणसी पश्चिमी मंडल के अधीक्षक डाकघर विनय कुमार ने बताया कि महमूरगंज डाकघर 2016 से भवन की अनुपलब्धता के कारण वाराणसी कैंट प्रधान डाकघर के प्रांगण में संचालित हो रहा था। यहाँ के ग्राहकों को निरंतर समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। पुनः महमूरगंज में डाकघर के विस्थापित होने से ग्राहकों को सभी सुविधाएं सुलभ हो सकेंगी। साथ ही डाक वितरण, खाता खुलवाने, आईपीपीबी, आधार के नवीनीकरण/अपडेशन इत्यादि कार्यों के लिए ग्राहकों को दूर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। एक लम्बे समय बाद महमूरगंज क्षेत्र में डाकघर पुन: शिफ्ट होने से आम जन में भी काफी हर्ष दिखा।

इस अवसर पर अधीक्षक डाकघर विनय कुमार, सहायक निदेशक आरके चौहान, सहायक अधीक्षक इंद्रजीत पाल, डाक निरीक्षक दिलीप पांडेय, मंजीत कुमार, पोस्टमास्टर महमूरगंज सतीश कुमार, एसपी गुप्ता सहित तमाम अधिकारी, कर्मचारी और स्थानीय लोग उपस्थित रहे।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार