आप यहाँ है :

मीडिया की दुनिया से
 

  • डॉक्टर ने खोली अस्पताल की पोल, ऑक्सीजन की कमी से तड़प-तड़प कर जान देने वाले मरीज का वीडिओ बनाया

    अक्सर देखा जाता है कि मरीजों की मौत के बाद स्टाफ अस्पताल की गड़बड़ियों पर पर्दा डालने में जुट जाता है। मगर राजस्थान के सबसे बड़े सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में एक चिकित्सक ने गजब की हिम्मत दिखाई। आक्सीजन के अभाव में तड़पकर मरीज की मौत हुई तो अंदर से हिले डॉक्टर ने वीडियो बनाकर अस्पताल की लापरवाही और संवेदनहीनता को उजागर किया। वीडियो वायरल होने के बाद अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मच गया। अस्पताल प्रशासन ने बाद में प्रेस कांफ्रेंस कर डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश की। पत्रकारों से अस्पताल का निरीक्षण करवाकर सब कुछ डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश हुई।

  • इंटरनेट की कृपा से बना ब्रिटेन का नंबर वन रेस्टोरेंट, जो था ही नहीं

    इंटरनेट की कृपा से बना ब्रिटेन का नंबर वन रेस्टोरेंट, जो था ही नहीं

    ये रोचक आलेख बताता है कि इंटरनेट की दुनिया पर पढ़े लिखे और होशियार लोगों को कितनी आसानी से मूर्ख ही नहीं बनाया जा सकता है बल्कि बार बार मूर्ख बनाया जा सकता है। इंटरनेट पर कैसे फर्जी तरीके से रैंकिंग का गोरखधंधा चलता है, जरा आप भी जान लीजिये।

  • विऑन की पहुँच अब मध्य पूर्व में भी

    विऑन की पहुँच अब मध्य पूर्व में भी

    ‘जी मीडिया’ के अंतरराष्ट्रीय अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘विऑन’ ने विस्‍तार की दिशा में एक और कदम बढ़ाया है। अब इस चैनल ने मध्य पूर्व में भी अपनी सेवाएं शुरू कर दी हैं। मिडल ईस्‍ट (संयुक्‍त अरब अमीरात और कतर) के बड़े नेटवर्क्‍स में शुमार ‘एटिसैलेट’ पर इस चैनल को लॉन्‍च किया गया है। इन देशों के दर्शक ‘विऑन’ को ‘डूऐंड उर्दू’ नेटवर्क पर भी देख सकते हैं। विऑन सात अफ्रीकी देशों नाइ‍जीरिया, केन्‍या, जांबिया, जिम्‍बाब्‍वे,घाना, बोट्सवाना और रवांडा में भी तेजी से अपने पैर फैला रहा है।

  • दिवंगत महादेवी वर्मा के नाम कुर्की नोटिस

    दिवंगत महादेवी वर्मा के नाम कुर्की नोटिस

    जिस नाम से शहर की पहचान हो उसी नाम पर सरकारी विभाग ने कुर्की का नोटिस जारी कर दिया और वो भी तब, जबकि उस शख्सियत को दुनिया छोड़े 31 वर्ष बीत चुके हैं। यह शर्मनाक कारनामा अंजाम दिया है नगर निगम इलाहाबाद ने, जिसने साहित्य जगत की अमिट हस्ताक्षर महीयसी महादेवी वर्मा के नाम पर गृहकर का बकाया दिखाते हुए कुर्की का नोटिस जारी कर दिया।

  • राजदीप सरदेसाई, राघव बहल सहित 7 पत्रकारों पर चलेगा मुकदमा

    राजदीप सरदेसाई, राघव बहल सहित 7 पत्रकारों पर चलेगा मुकदमा

    जुलाई 2006 में ‘शैतान डॉक्टर’ नाम से स्टिंग का प्रसारण करने वाला तत्कालीन चैनल ‘आईबीएन7’ (अब न्यूज18इंडिया) के मालिक-संपादक समेत 9 लोगों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा चलाया जाएगा। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के उस आदेश को पलट दिया है, जिसमें कहा गया था कि दो लोगों को छोड़कर चैनल मालिक व संपादक समेत बाकी 7 लोगों के खिलाफ मुकदमा नहीं चलाया जाएगा।

  • इंग्लैंड में दाउद की करोड़ों अरबों की संपत्ति का पता चला

    इंग्लैंड में दाउद की करोड़ों अरबों की संपत्ति का पता चला

    दाऊद इब्राहिम ने ब्रिटेन में अरबों रुपये की संपत्तियों में निवेश किया है। दाऊद इब्राहिम इंग्लैंड में कई होटलों, टॉवर ब्लॉक्स, महलों और घरों का मालिक है। दाऊद की ये संपति लंदन और ब्रिटेन के दूसरे हिस्सों में है। अंग्रेजी अखबार ‘द टाइम्स’ ने इस बावत एक रिपोर्ट जारी किया है। इस रिपोर्ट में दाऊद की संपत्तियों का ब्यौरा तैयार करने के लिए भारतीय अधिकारियों द्वारा तैयार किए गए डोजियर का जिक्र है। इस डोजियर का मिलान ब्रिटेन के कंपनीज हाउस के रिकॉर्ड तथा लैंड रजिस्ट्री और पनामा दस्तावेजों से किये जाने के बाद ये खुलासा हुआ है। इस अखबार द्वारा देखे गए दस्तावेजों

  • ड़. स्वामी के गौरक्षा बिल पर संसद में जोरदार बहस

    ड़. स्वामी के गौरक्षा बिल पर संसद में जोरदार बहस

    राज्यसभा में बीजेपी सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी के निजी विधेयक गौ संरक्षण विधयेक, 2007 पर को दो घंटे तक लंबी और मजेदार चर्चा हुई। इस दौरान बीजेपी के एक सांसद ने कहा कि गाय के मूत्र में औषधीय गुण हैं और इससे कैंसर का इलाज हो सकता है। वहीं समाजवादी पार्टी के सांसद ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार को विचार करना चाहिए कि जिन देशों में बीफ खाया जाता है, उनसे अपने राजनयिक संबंध नहीं रखे। गुजरात से भाजपा के सांसद शंकरभाई वेगड़ ने राज्यसभा में कहा कि गोमूत्र के सेवन ने 76 साल की उम्र में ना सिर्फ उन्हें तंदरुस्त रखा है बल्कि इसके इस्तेमाल से उनके पिता का कैंसर भी ठीक हो गया। वेगड़ ने कहा, “10 सालों से मैं गोमूत्र पी रहा हूं, मैं गोमूत्र की 10 मिलीलीटर मात्रा को गुनगुने पानी में मिलाता और पीता हूं इसके बाद दोपहर तक कुछ नहीं खाता हूं, मैं अब 76 साल का हूं और मुझे कोई बीमारी नहीं है, मैं इसका जीता-जागता उदाहरण हूं।” उन्होंने कहा कि अगर किसी को कैंसर की बीमारी है और वह प्रांरभिक अवस्था जैसे कि स्टेज वन या स्टेज टू में है तो गोमूत्र के सेवन से ठीक हो सकता है, और उन्होंने अपने पिता को ठीक होते हुए भी देखा है।

  • ‘राइट टू वोट’ ऐप से कर सकेंगे वोटिंग!

    आईआईएम इंदौर के पूर्व छात्र नीरज गुटगुटिया के स्टार्टअप 'राइट टू वोट' ऐप को नेस्कॉम और फेसबुक के 'कोड फॉर नेक्सट बिलियन' कार्यक्रम के दूसरे संस्करण के लिए चुना गया है। बैंगलुरू में हाल ही में घोषित परिणामों में देशभर के दस स्टार्टअप्स को इस कार्यक्रम के लिए चुना गया। 'राइट टू वोट' ऐप के जरिए मोबाइल से वोटिंग किसी भी चुनाव के लिए वोटिंग की जा सकती है। भारत में मोबाइल इंटरनेट एप्लीकेशन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से छह महीने के इस कार्यक्रम में इन स्टार्टअप्स को तकनीकी और आर्थिक रूप से मदद की जाएगी, ताकि ये नए इंटरनेट और मोबाइल यूजर्स तैयार कर सकें।

  • चर्च के खिलाफ काले धन का मामाला

    चर्च के खिलाफ काले धन का मामाला

    भारत में पहली बार किसी चर्च के खिलाफ कालेधन का मामला सामने आया है। केरल के एर्णाकुलम में प्रधान पादरी के क्षेत्राधिकार के अंतर्गत जमीन सौदे के लेनदेन में चर्च के पैनल को जांच में गड़बड़ियां मिली हैं। चर्च पैनल ने चर्च प्रमुख जॉर्ज एलनचेरी के खिलाफ चर्च और दीवानी कानूनों के तहत कार्रवाई करने की सिफारिश की है। चर्च प्रमुख पर एक धर्मप्रदेश घटाने का आरोप है। यह इस तरह की पहली ऐसी सिफारिश हैं। मामले में कैथोलिक चर्च को लेकर कालेधन की भी बात सामने आई है। आरोपी एलनचेरी भारत के उन चर्च प्रमुखों में से हैं जो पोप का चुनाव करने की योग्यता रखते हैं। चर्च पैनल की रिपोर्ट रोम भेज दी गई है। एर्णाकुलम के प्रधान पादरी के क्षेत्राधिकार के प्रवक्ता फादर पॉल कारेडन ने संगीन आरोपों के तहत एलनचेरी के खिलाफ जांच रिपोर्ट भेजी है। उन्होंने बताया कि अब तक रिपोर्ट पोप के पास पहुंच गई होगी। उन्होंने कहा- ”हमने दिल्ली में वेटिकन के प्रतिनिधि एपोस्टोलिक ननसिओ के जरिये रिपोर्ट रोम भेज दी है।

  • मलेशिया में बच्चों को जबरन मुसलमान बनाने के खिलाफ हिन्दू महिला ने जीता मुकदमा

    कुआलालंपुर। मलेशिया में एक हिंदू महिला ने अपने बच्चों के धर्मांतरण की कानूनी लड़ाई जीत ली है। मलेशिया की सर्वोच्च अदालत ने सर्वसम्मति से महिला के पक्ष में फैसला सुनाया। अदालत ने ऐतिहासिक फैसले में कहा कि नाबालिग के धर्मातरण के लिए माता-पिता यानी दोनों अभिभावकों की सहमति जरूरी है।

Back to Top