आप यहाँ है :

मीडिया की दुनिया से
 

  • इन हिंदुओं का दर्दः लोग आज भी इनको मुसलमान समझते हैं

    इन हिंदुओं का दर्दः लोग आज भी इनको मुसलमान समझते हैं

    पायल भुयन बीबीसी संवाददाता, जयपुर से भारत के विभाजन के बाद पश्तून से आए हिंदुओं की दर्दभरी दास्तान..... आंगन में खेल

  • कर्नाटक के इस मंदिर में पश्चिमी परिधान पहनकर आने वालों को अंदर आने की अनुमति नहीं

    कर्नाटक के इस मंदिर में पश्चिमी परिधान पहनकर आने वालों को अंदर आने की अनुमति नहीं

    कर्नाटक के आरआर नगर स्थित श्री राजाराजेश्वरी मंदिर भक्तों के लिए ड्रेस कोड जारी किए जाने के चलते सुर्खियों में है। इसके अनुसार स्लीवलेस टॉप, जींस और मिनी स्कर्ट्स पहनकर महिलाओं को मंदिर में प्रवेश की इजाजत नहीं मिलेगी। मंदिर प्राधिकरणों ने पुरुषों के लिए भी ड्रेस कोड जारी किया है।

  • मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री पत्रकारों को सम्मानित करेंगे

    उत्कृष्ट पत्रकारिता के लिए उत्साह जनक वातावरण बनाए जाने और इस क्षेत्र में कार्य कर रहे अग्रणी पत्रकारों को मध्य प्रदेश सरकार सम्मानित करेगी। इसके लिए सरकार ने राष्ट्रीय, राज्य-स्तरीय और आंचलिक पत्रकारिता सम्मान घोषित कर दिए हैं। पुरस्कारों के लिए चयनित पत्रकारों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 10 अप्रैल को शाम 7 बजे मुख्यमंत्री निवास में सम्मानित करेंगे।

  • छत्तीसगढ़ के के सभी सरकारी अस्पतालों में गरीबों को मिलेगी पैथोलॉजी और एक्सरे की निःशुल्क सुविधा

    रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने एक बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में गरीबों को निःशुल्क पैथोलॉजी और एक्सरे की सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी छत्तीसगढ़ के आदिवासी बहुल बीजापुर जिले के ग्राम जांगला से ‘भारत आयुष्मान योजना’ का राष्ट्रीय स्तर पर शुभारंभ करेंगे। यह 600 की आबादी वाला एक छोटा सा गांव है। इस योजना में देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को 5 लाख रूपये तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। प्रधानमंत्री का यह कदम गरीबों, वनवासियों, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्गों के प्रति उनकी संवेदनशीलता का परिचायक है। मुख्यमंत्री आज राजधानी रायपुर के सरोना स्थित एक निजी अस्पताल श्रीसंकल्प हॉस्पिटल के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे।

  • फर्जी खबरों का चीर-फाड़ करने वाली वेबसाईटों में किसका पैसा लगा है

    फेक न्यूज पर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी के गाइडलाइन्स को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पलट देने के बाद से इस पर देश में राजनीति जारी है। इस बीच यह खुलासा हुआ है कि एंटी फेक न्यूज चलाने वाली कंपनियों में हाई प्रोफाइल लोगों के पैसे लगे हुए हैं। एंटी फेक न्यूज ब्रॉडकास्टिंग में लगे तीन बड़े नाम ‘ऑपइंडिया’, ‘अल्ट न्यूज’ और ‘बूम लाइव’ में जानी-मानी सेलिब्रिटीज और उद्योगपतियों के पैसे लगे हैं। रैडिफ डॉट कॉम के मुताबिक मशहूर लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता अरुंधति रॉय का जिंदाबाद ट्रस्ट अल्ट न्यूज को डोनेशन दे रहा है जबकि मणिपाल ग्लोबल एजुकेशन के चेयरमैन टीवी मोहनदास पाई और इन्फोसिस के संस्थापक एन आर नारायण मूर्ति ने ऑपइंडिया को पैसे दिए हैं।

  • हिंदू राजनीतिः धोखा या नौसिखियापन?

    हिंदू राजनीतिः धोखा या नौसिखियापन?

    शिव सेना या तेलुगु देशम, आदि भाजपा पर ‘धोखे’ का आरोप लगा रहे हैं। जबकि कांग्रेस ने ‘ड्रामेबाजी’ का आरोप लगाया है। कुछ लोगों के अनुसार अगले चुनाव में भाजपा के विरुद्ध मुख्य नारा होगा ‘धोखा’। हालाँकि ‘ड्रामेबाजी’ पर अधिक सहमति संभव है। भाजपा समर्थकों में भी एक वर्ग नाटक की आदत वाली बात मानने लगा है। इसलिए सही लग ने के कारण ‘ड्रामेबाजी’ का आरोप ज्यादा घातक है। इस में नेतृत्व की अच्छी नीयत, परिश्रम, कर्मठता, ईमानदारी, आदि की स्वीकृति है - फिर भी निराशा है। इसलिए, जैसा मुकदमे में होता है, यदि छोटा आरोप भी साबित हो जाए, तो सजा निश्चित मिलती है।

  • सलमान को जेल भिजवाने में इन चार लोगों की भूमिका अहम रही

    सलमान को जेल भिजवाने में इन चार लोगों की भूमिका अहम रही

    बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान 1998 में किए काले हिरणों के शिकार के लिए दोषी करार दिए जा चुके हैं और फिलहाल जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद हैं। करीब 19 सालों तक काले हिरण के शिकार का मामला अदालत में चला, लेकिन सलमान कानून के शिकंजे से बच नहीं सके। बता दें कि सलमान खान को सजा दिलाने में 4 लोगों का अहम योगदान है। ये 4 लोग हैं पूनमचंद और चुगराम बिश्नोई, हरीश दुलानी और ललित बोरा।

  • सुधीर चौधरी ने पोल खोली सचिन तेंदुलकर को हीरो बनाने की मुहिम चला रहे मीडिया की

    सुधीर चौधरी ने पोल खोली सचिन तेंदुलकर को हीरो बनाने की मुहिम चला रहे मीडिया की

    ज़ी मीडिया के लोकप्रिय कार्यक्रम डीएनए में सुधीर चौधरी ने मंगलवार, 3 अप्रैल को सचिन तेंदुलकर द्वारा राज्यसभा के सदस्य के रुप में मात्र 8 प्रतिशत उपस्थिति देने और राज्यसभा सांसद को मिलने वाली राशि से कश्मीर के एक स्कूल को दान देने से लेकर अपना 6 साल का वेतन प्रधान मंत्री राहत कोष में […]

  • श्री नरेंद्र मोदी की मन की बात के लेखक ने कहा ये किताब मैने नहीं लिखी

    श्री नरेंद्र मोदी की मन की बात के लेखक ने कहा ये किताब मैने नहीं लिखी

    पीएम नरेन्द्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम से जुड़े एक किताब पर पूर्व बीजेपी नेता अरुण शौरी ने एक विवादास्पद दावा किया है। दरअसल पिछले साल 25 मई को राष्ट्रपति भवन में दो किताबें लॉन्च की गईं थी। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी में हुए इस कार्यक्रम में मन की बात: ए सोशल रिव्यूलेशन ऑन रेडियो और मार्चिंग विद ए बिलियन: एनालइजिंग नरेंद्र मोदीज गवमेंट इन मिड टर्म नाम की दो किताबें लॉन्च की गईं थी। पहले किताब के लेखक राजेश जैन को बताया गया, जबकि दूसरे किताब के लेखक पत्रकार उदय माहुरकर हैं। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक अरुण शौरी ने कहा है कि राजेश जैन का मन की बात: ए सोशल रिव्यूलेशन ऑन रेडियो नाम की किताब से कोई लेना-देना नहीं है।

  • आचार संहिता ने हनुमानजी की सबसे बड़ी प्रतिमा को बीच सड़क पर फँसा दिया 

    समुद्र को भी लांघ जाने वाले भगवान हनुमान बीच सड़क में ही फंस गए और इस बाधा को पार करने में उन्हें 15 घंटे का समय लग गया। यह वाकया बेंगलुरु का है, जहां कर्नाटक पुलिस ने प्रदेश में जारी चुनावी आचार संहिता के उल्लंघन की वजह से हनुमान की एक विशालकाय प्रतिमा को रास्ते में ही रोक दिया। यह मामला चुनाव आयोग के अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद ही सुलझ सका।

Back to Top