आप यहाँ है :

डॉ. विजय सरदाना को डॉ. एसके. गोयल लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन कोटा द्वारा गुरूवार को डॉक्टर्स डे पर शहर में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। आॅनलाइन (जूम एप्लीकेशन के माध्यम से) एक संक्षिप्त मीटिंग का आयोजन भी किया गया। आईएमए हॉल नयापुरा में डॉ. विजय सरदाना प्राचार्य एवं नियंत्रक, राजकीय मेडिकल कॉलेज कोटा को चौथा डॉ. एसके गोयल लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा गया। आईएमए अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने बताया कि सेवानिवृत 11 वरिष्ठ चिकित्सकों का उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए सम्मान किया गया। पूरे कार्यक्रम के दौरान चिकित्सकों में उमंग, उत्साह व समर्पण देखने को मिला, साथ ही कोरोना काल में जिन चिकित्सकों ने मरीजों की सेवा करते हुए अपने प्राणों की आहुतियां दी उनकों भी नमन किया गया।

कार्यक्रम में डॉ. डीआर राय, पूर्व राष्ट्रीय वाईस प्रेसिडेंट एवं पूर्व राष्ट्रीय जनरल सेक्रेटरी आईएमए, गेस्ट आॅफ आॅनर डॉ. विजय सरदाना प्राचार्य एवं नियंत्रक, राजकीय मेडिकल कॉलेज कोटा, विशिष्ट अतिथि डॉ. अशोक शारदा, प्रेसिडेंट स्टेट आईएमए, डॉ. एसके गोयल एमडी. वरिष्ठ फिजिशियन, डॉ. एस. सान्याल, पूर्व प्रेसिडेंट आईएमए, कोटा, डॉ. बीएस तंवर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, आईएमए सचिव डॉ. अमित व्यास सहित प्रदेश व देश के कई चिकित्सक वर्चुअल जुडेÞ और वर्तमान परिपेक्ष में चिकित्सकों को आ रही समस्याओं, चिकित्सकों द्वारा किए गए प्रदेश व देश में बेहतरीन कार्य, नवाचार व अन्य विषय पर अपने विचार सांझा किए।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कोटा आईएमए अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा कि चिकित्सक समाज के लिए समर्पित भाव से दिन रात मेहनत कर मरीजों की जान बचाने का प्रयास करता है। कोरोना काल में अपनी जान जोखिम में डालकर चिकित्सकों ने पीड़ितों की निस्वार्थ भाव से सेवा की, कोरोना काल में डॉक्टर्स ने बहुत बड़ा रोल निभाया, कई घंटों तक पीपीई किट में रहकर उन्होंने कोरोना मरीजों को ठीक किया, इस महामारी में देश में सैकड़ों डॉक्टरों की मौत भी हुई, ऐसे में चिकित्सकों ने अपने कार्य को समर्पित व निस्वार्थ भाव से सीमित संसाधनों में करते हुए उत्कृष्ट देने का प्रयास किया।

प्रदेश आईएमए अध्यक्ष डॉ. अशोक शारदा ने डॉक्टर्स डे के महत्व को प्रतिपादित किया। उन्होंने बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. बीसी रॉय के सम्मान में मानवता की सेवा में उनके योगदान को बताया और कहा कि उनकी सेवा व समर्पण के लिए ही उनके जन्म दिवस व इसी दिन उनकी मृत्यु पर डॉक्टर्स डे मनाया जाने लगा। चौथा डॉ. एसके गोयल लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किए जाने के दौरान डॉ. विजय सरदाना ने कहा कि सेवा और सम्मान के इस पेशे का उत्तरदायित्व निभाने का सौभाग्य हर किसी को नहीं मिलता, भगवान का दर्जा देना, सर्वस्व अर्पण करने जैसा है, चिकित्सकों व मरीज का रिश्ता जब मजबूत होगा तभी डॉक्टर्स डे मनाया जना सार्थक होगा। प्रदेश आईएमए सचिव डॉ. केवल कृष्ण डंग ने कहा कि मरीज व परिजनों के चेहरे पर मुस्कान देना ही चिकित्सक का कार्य है, हर मरीज का पूरी शिद्दत से उपचार करना हमारा दायित्व है जिसे हम बखूबी निभा रहे हैं, इस दौरान आईएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ. एस सान्याल, डॉ. अमित व्यास व अन्य चिहिकत्सकों ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन डॉ. यशस्वी गौतम द्वारा किया गया। इससे पूर्व आईएमए की ओर से पौधारोपण, जरूरतमंदों की मदद, गौ माता का चारा, फल वितरण, निशुल्क चिकित्सकीय परामर्श सहित अन्य कार्य किए गए।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top