Thursday, April 18, 2024
spot_img
Homeसोशल मीडिया सेगूगल ने अपराधी बताया तो ठोका मुकदमा, गूल पर लगा 150,000...

गूगल ने अपराधी बताया तो ठोका मुकदमा, गूल पर लगा 150,000 डॉलर का जुर्माना

एक व्यक्ति के बारे में गलत जानकारी देना दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल को भारी पड़ गया. उसने न सिर्फ गूगल पर केस ठोक दिया, बल्कि केस जीत भी लिया. गूगल को कोर्ट की ओर से कहा गया कि वह उस व्यक्ति को 150,000 डॉलर का भुगतान करे. उस व्यक्ति ने गूगल के खिलाफ लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी. अब इस केस में उन्हें जीत मिली है.

ये मामला ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न का है. वहां के रहने वाले मिलोराड त्रिकुजला ने गूगल के खिलाफ ये केस किया था. ये मामला 2004 का है. उस समय मेलबर्न में मिलोराड पर एक लोकल गेंगस्टर ने गोली चलाई थी. इसके थोड़े दिनों बाद मिलोराड ने एक दिन ऐसे ही गूगल पर अपना नाम खोजा. गूगल पर आए परिणाम देखकर वह चौंक उठे.

दरअसल गूगल पर उनका नाम और फोटो को एक गैंगस्टर के तौर पर दिखाया गया था. इसके साथ उन्हें ड्रग ट्रेफिकर भी बताया गया था. इसके बाद उन्होंने गूगल के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया कोर्ट में मुकद्मा ठोक दिया. इसके बाद इसके बाद उन्हें 150000 अमेरिकी डॉलर के भुगतान का आदेश हुआ.

इसके बाद मामला विक्टोरियन कोर्ट में चला गया. यहां उन्होंने गूगल पर आरोप जड़ा कि उनके सर्च में बहुत गलतियां हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि यदि कोई मेलबोर्न के अंडरवर्ल्ड क्रिमिनल की जानकारी गूगल पर मांगे तो उसमें उनकी तस्वीर आती है. हालांकि उस समय केस गूगल ने जीत लिया. मिलोराड ने हार नहीं मानी. उन्होंने केस को हाईकोर्ट में चुनौती दी. इसके बाद हाईकोर्ट ने फैसला उनके पक्ष में सुनाया. कोर्ट ने यह भी माना ये मामला मानहानि का बनता है.

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार