आप यहाँ है :

नक्सलियों ने पत्रकार की हत्या की

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले में संदिग्ध हथियारबंद लोगों ने वरिष्ठ पत्रकार साई रेड्डी की हत्या कर दी है। साई रेड्डी के परिजनों का आरोप है कि उनकी हत्या करने वाले माओवादी हैं। 50 वर्षीय वरिष्ठ पत्रकार साई रेड्डी छत्तीसगढ़ से प्रकाशित देशबंधु अखबार से जुड़े हुए थे।   पुलिस के अनुसार शुक्रवार की दोपहर साई रेड्डी पर बासागुड़ा गांव के पास संदिग्ध माओवादियों ने हमला किया था। हमलावरों ने साई रेड्डी की गर्दन पर धारदार हथियारों से वार किया था।  

 जिले के एसपी प्रशांत अग्रवाल ने साई रेड्डी की हत्या में माओवादियों का हाथ होने की आशंका जताई है। उन्होंने कहा कि जिस तरीके से हमला किया गया है, उससे आरंभिक तौर पर माओवादियों के शामिल होने की बात सामने आई है। लेकिन जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।   एक बयान में इस मामलें को लेकर बीजापुर पत्रकारों ने अपनी नाराजगी व्यक्त की है और एक दिन के लिए बस्तर बंद का एलान भी किया है। बस्तर पत्रकार संघ के प्रेसिडेंट एस करीमुद्दीन ने कहा कि हम इस घटना की निंदा करते हैं और जल्द ही कार्रवाई करने की हम अपनी योजना की घोषणा करेंगे।   इससे पहले माओवादी कम से कम दो बार उनके घर पर हमला करके उनके घर को आग लगा चुके थे।

 एस करीमुद्दीन ने  यह भी बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार ने माओंवादियों से सांठ-गांठ का आरोप लगाकर उनके खिलाफ छत्तीसगढ़ विशेष जनसुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की थी। वे इस दौरान दो सालों तक न्यायिक हिरासत में भी रहे। पुलिस को कोई पुख्ता सबूत न मिलने पर उन्हें छोड़ दिया था।   इससे पहले इस वर्ष फरवरी में भी माओवादियों ने सुकमा में एक पत्रकार नेमिचंद जैन की हत्या कर दी थी। जैन पहला पत्रकार था जो बस्तर में माओंवादियों द्वारा मारा गया था।

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top