Saturday, June 15, 2024
spot_img
Homeभारत गौरवमेरी माटी मेरा देश अभियान

मेरी माटी मेरा देश अभियान

“आजादी का अमृत महोत्सव” इस वर्ष भी सम्पूर्ण भारतवासी मना रहे हैं। जगह-जगह स्वतंत्रता से जुड़े हुए कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है ताकि स्वतंत्रता दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले उन वीर शहीदों को पुनः याद किया जा सके और आने वाली पीढ़ी को उनके शौर्य और बलिदान की गाथा सुनाई जा सके। इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री द्वारा “मेरी माटी मेरा देश “कार्यक्रम का अभियान चलाया जा रहा है। देश के लिए अपना जीवन न्यौछावर करने वाले वीरों को श्रद्धांजलि देने के लिए 9 अगस्त 2023 को देशव्यापी कार्यक्रम ‘मेरी माटी मेरा देश ‘का शुभारंभ किया गया। इस कार्यक्रम के लिए 9 अगस्त से 30 अगस्त 2023 की समयावधि रखी गई है। इस अभियान का उद्देश्य उन बहादुर स्वतंत्रता सेनानियों और वीरों का सम्मान करना है जिन्होंने देश के लिए अपना जीवन बलिदान कर दिया।

इस अभियान की घोषणा पीएम नरेंद्र मोदी ने 30 जुलाई 2023 को “मन की बात” के 103वें संस्करण के दौरान की थी। कार्यक्रम की रूपरेखा में यह पूरी तरह से तय किया गया कि 9 अगस्त से लेकर 30 अगस्त तक चलने वाले इस कार्यक्रम में गांव से लेकर शहरी निकायों तक राष्ट्रीय स्तर पर आयोजन किए जाएंगे। इस अभियान के तहत देशभर में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे तथा स्मारकों का निर्माण किया जाएगा जिसे शीलाफलकम् (स्मारक पट्टीका)नाम दिया गया है। इस शिलाफलक पर उस क्षेत्र के सभी सेनानियों के नाम दर्ज किए जाएंगे। साथ ही यह भी तय किया गया कि 15 अगस्त तक ध्वजारोहण के कार्यक्रम रखे जाएंगे और 16 अगस्त से ब्लॉक/ नगर पालिका /नगर निगम और राज्य स्तर पर, “मेरी माटी मेरा देश “कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम का समापन समारोह कर्तव्यपथ ,नई दिल्ली में गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में 30 अगस्त को निर्धारित किया गया है ।

इस अभियान के तहत प्रत्येक गांव की मिट्टी को नमूने के तौर पर एकत्र कर अमृत कलश यात्रा के रूप में 7500 कलशो में भरकर दिल्ली लाया जाएगा। यह यात्रा अपने साथ देश के विभिन्न औरहिस्सों से मिट्टी के साथ पौधे भी लेकर दिल्ली आएगी। मिट्टी और पौधों को मिलाकर राष्ट्रीय युद्ध स्मारक के पास “अमृत वाटिका “बनाई जाएगी ।यह अमृत वाटिका “एक भारत- श्रेष्ठ भारत “का भव्य प्रतीक बनेगी । सूचना एवं प्रसारण तथा दूरसंचार विभाग के सचिव अपूर्व चंद्रा के मुताबिक वीरों को श्रद्धांजलि के प्रतीक शिलाफलक स्थापित किए जाएंगे।

आजादी के इस कार्यक्रम के तहत सामूहिक भागीदारी अर्थात जन भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए एक वेबसाइट https:/ merimaatimeradesh.gov.in/ भी लॉन्च किया गया है,जहां लोग मिट्टी का दीपक हाथ में लेकर अपनी सेल्फी अपलोड कर सकते हैं। ऐसा करके वे भारत को एक विकसित देश बनाने, गुलामी की मानसिकता को खत्म करने, हमारी समृद्ध विरासत पर गर्व करने, एकता व एकजुटता बनाए रखने,नागरिक के रूप में अपने कर्तव्यों को पूरा करने तथा राष्ट्र की रक्षा करने वालों का सम्मान करने पर ध्यान केंद्रित करते हुए पंचप्राण की प्रतिज्ञा ले सकते हैं।

यह अभियान “आजादी का अमृत महोत्सव “का समापन कार्यक्रम है जिसका मुख्य घटक मिट्टी का नमन और वीरों का वंदन करना है।

डॉ सुनीता त्रिपाठी “जागृति”
नई दिल्ली

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार