Thursday, April 25, 2024
spot_img
Homeचर्चा संगोष्ठीनिर्मल वर्मा की कहानी डेढ़ इंच ऊपर के नाट्य मंचन

निर्मल वर्मा की कहानी डेढ़ इंच ऊपर के नाट्य मंचन

रंगकर्मी सौरभ बंसल का जीवंत अभिनय

मुंबई। कथाकार निर्मल वर्मा की चर्चित कहानी ‘डेढ़ इंच ऊपर’ के नाट्य मंचन में रंगकर्मी सौरभ बंसल ने बेहतरीन अभिनय किया। हालांकि यह उनका एकल शो था मगर उन्होंने पति पत्नी के रोमांटिक दृश्य और पुलिस स्टेशन की त्रासद मंज़र को जिस कौशल के साथ पेश किया उससे श्रोता समुदाय मंत्र मुक्त हो गया।

चित्रनगरी संवाद मंच मुंबई के रविवार को मृणालताई हाल, केशव गोरे स्मारक ट्रस्ट, गोरेगांव में आयोजित साप्ताहिक कार्यक्रम में प्रतिष्ठित कवि और रंग समीक्षक अनूप सेठी ने सौरभ कि इस नाट्य प्रस्तुति को बहुत सराहा। अनूप सेठी के अनुसार निर्मल वर्मा की कहानी के कथ्य को जिस हुनर के साथ सौरभ ने संप्रेषित किया हुआ उसकी जितनी भी तारीफ़ की जाए कम है।

डॉ सुमनिका सेठी, कथाकार अलका अग्रवाल और पत्रकार विवेक अग्रवाल ने भी सौरभ बंसल के अभिनय की दिल खोलकर तारीफ़ की। एक सवाल के जवाब में सौरभ ने बताया कि वह मथुरा के मूल निवासी हैं और चार-पांच साल की उम्र से ही रंगमंच से जुड़ गए थे। फिलहाल मुंबई में वह प्रतिष्ठित रंगगर्मी विजय कुमार के साथ सक्रिय हैं।

दूसरे सत्र में विविधरंगी काव्य संध्या का आयोजन हुआ। इसमें जाने-माने हास्य कवि और पटकथा लेखक आशकरण अटल, नवीन जोशी नवा, पूनम विश्वकर्मा, रेखा बब्बल, कुसुम तिवारी, अलका अग्रवाल, प्रदीप गुप्ता, क़मर हाजीपुरी, युसूफ़ यलगार, महेश साहू, अजय शुक्ला बनारसी और गुलशन मदान ने कविता पाठ किया।

केशव गोरे स्मारक ट्रस्ट के प्रमुख ट्रस्टी प्रमोद निगुडकर ने आशकरण अटल की कविताओं की भरपूर प्रशंसा की। अनूप सेठी के काव्य पाठ और शुभकामना से कार्यक्रम का समापन हुआ।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार