Tuesday, April 23, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिरेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने वाइब्रेंट गुजरात ग्‍लोबल समिट में भारतीय रेल...

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने वाइब्रेंट गुजरात ग्‍लोबल समिट में भारतीय रेल पैवेलियन का किया दौरा

मुंबई। रेल, संचार एवं इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने 11 जनवरी, 2024 को गांधीनगर में 10वें वाइब्रेंट गुजरात ग्‍लोबल समिट-2024 में शामिल हुए। उन्होंने पश्चिम रेलवे द्वारा स्थापित किए गए भारतीय रेल के पैवेलियन का भी दौरा किया। रेल मंत्री के साथ पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक अशोक कुमार मिश्र और अन्य वरिष्ठ रेलवे अधिकारी भी उपस्थित थे।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार अश्विनी वैष्णव ने मीडिया प्रतिनिधियों के साथ संवाद किया और उन्हें अपने नेतृत्व वाले मंत्रालयों के तहत शुरू किए जा रहे विभिन्न विकास कार्यों के बारे में विस्‍तृत जानकारी दी। श्री वैष्‍णव ने देश में सेमी-कंडक्टर उद्योग में हुई उल्लेखनीय प्रगति और इस क्षेत्र में हमारे देश में विभिन्न प्रमुख कंपनियों जैसे टाटा समूह, माइक्रोन टेक्नोलॉजी आदि द्वारा किए गए निवेश का उल्लेख किया। यह प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व के कारण ही संभव हो सका है।

मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना के बारे में विस्‍तृत जानकारी देते हुए श्री वैष्णव ने उल्लेख किया कि वायाडक्ट, डेक, ट्रैक और ओवरहेड उपकरण लगाने का काम तेजी से चल रहा है। औसतन, लगभग प्रति माह 14 किमी का काम हो रहा है। अब तक 270 किमी से अधिक वायाडक्ट बिछाया जा चुका है। स्टेशनों के निर्माण का काम भी तेजी से प्रगति पर है। बीकेसी टर्मिनल पर पाइलिंग का काम पूरा हो गया है तथा मुंबई और ठाणे के बीच समुद्र के नीचे सुरंग के डिजाइन को अंतिम रूप दिया गया है और निर्माण कार्य शुरू हो गया है। उन्होंने आगे कहा कि बुलेट ट्रेन परियोजना केवल एक परिवहन परियोजना नहीं है, बल्कि एक बड़ी क्षेत्रीय वृद्धि और विकासात्मक योजना है। इससे मुंबई, ठाणे, वापी, सूरत, वडोदरा और अहमदाबाद जैसे सभी प्रमुख शहरों की अर्थव्यवस्थाओं को एकीकृत करने में मदद मिलेगी तथा इन शहरों के बीच आसान और तेज़ परिवहन सक्षम हो सकेगा, जिससे उत्पादकता कई गुना बढ़ जाएगी।

इसके बाद रेल मंत्री ने भारतीय रेल के पैवेलियन का दौरा किया और पैवेलियन की भव्यता से प्रभावित हुए, जो अयोध्या धाम जंक्शन रेलवे स्टेशन की थीम पर आधारित है। उन्होंने स्थिर पैनलों और गतिशील स्क्रीन के माध्यम से बहुत रचनात्मक तरीके से प्रदर्शित इन्फोग्राफिक्स में गहरी रुचि दिखाई। श्री वैष्णव ने पश्चिम रेलवे द्वारा डिज़ाइन किए गए रचनात्मक पैनलों और गतिशील स्क्रीनों के माध्यम से प्रदर्शित भारतीय रेल के विकास के बारे में व्यापक सामग्री और इन्फोग्राफिक्स की सराहना की।

श्री वैष्‍णव पैवेलियन के विभिन्न हिस्सों से बहुत प्रभावित हुए, जिनमें आकर्षक सामग्री, चिनाब ब्रिज, अजनी ब्रिज मॉडल और रनिंग ट्रेन मॉडल के प्रदर्शन सहित दिलचस्प जानकारी शामिल है। उन्होंने पवेलियन में वंदे भारत के वीआर अनुभव और ‘प्रेस टू एक्सीलरेट’ सेक्‍शन का भी आनंद लिया। माननीय रेल मंत्री ने भारतीय रेल के ऐसे शानदार पवेलियन के निर्माण के लिए पश्चिम रेलवे के प्रयासों की सराहना की। वाइब्रेंट गुजरात समि‍ट में भारतीय रेल का पवेलियन सबसे लोकप्रिय प्रदर्शनी स्टालों में से एक बन गया है, जिसे बड़ी संख्‍या में दर्शक अवलोकन कर सकेंगे।

उन्होंने समिट में नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) के पवेलियन का भी दौरा किया। इसके बाद वह अहमदाबाद के साबरमती स्थित डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (DFCCIL) के ऑपरेशन कंट्रोल सेंटर (OCC) गए। ऑपरेशन कंट्रोल सेंटर में मीडिया प्रतिनिधियों को जानकारी देते हुए श्री वैष्णव ने बताया कि 2014 के बाद डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर को शुरू करने के काम में तेजी आई और अब लगभग 89% काम पूरा हो चुका है। डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के कारण, अब इस कॉरिडोर पर फ्रेट ट्रेनें चलाई जा रही हैं, जबकि यात्रियों को ले जाने वाली ट्रेनें नियमित पारंपरिक नेटवर्क पर चलाई जाती हैं।

श्री वैष्णव ने कहा कि आज की तारीख में वेस्‍टर्न और इस्‍टर्न दोनों डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर प्रतिदिन लगभग 300 से 350 फ्रेट ट्रेनें चल रही हैं, जिससे पारगमन समय में लगभग 50-70 प्रतिशत की कमी करके लॉजिस्टिक दक्षता में वृद्धि हुई है। 10वें वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट-2024 का उद्घाटन 10 जनवरी, 2024 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने गुजरात के माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्रभाई पटेल और विभिन्न देशों के विदेशी प्रतिनिधियों की उपस्थिति में किया।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार