Sunday, March 3, 2024
spot_img
Homeपाठक मंचकोटा के कोचिंग छात्रों को बचाने वाली होप सोसायटी कहां गई

कोटा के कोचिंग छात्रों को बचाने वाली होप सोसायटी कहां गई

आदरणीय जिला दंडाधिकारी
कोटा।

सादर प्रणाम
कोटा में कोचिंग छात्रों की आत्महत्या रोकथाम के लिए कोटा के कलेक्टर रहे श्री टी रविकांत ने अपने कार्यकाल में जिला प्रशासन के सहयोग से “होप सोसायटी (Hope Society)” का गठन कर जवाहर नगर में 24 घंटे संचालित कॉल सेंटर की स्थापना कोचिंग और उद्योग संस्थानों के सहयोग से की थी। “होप सोसायटी” आत्महत्या की घटनाएं रोकने में कामयाब हुई और अनेक सफलता के दृष्टांत समाचार पत्रों में प्रकाशित होने से अच्छे परिणाम भी आए थे। मीडिया ने पूरा सहयोग किया था। एक अच्छा और सकारात्मक माहोल बना था। परंतु दो-तीन साल बाद सहयोग मिलना बंद होने से सोसायटी के अध्यक्ष मनोरोग चिकित्सक डॉ. एम.एल. अग्रवाल अपने बूते पर संचालित कर रहे हैं।

आपका ध्यान आकर्षित कर आग्रह करता हूं कि आपके द्वारा किए जा रहे प्रयासों में इसे प्राथमिकता से लेकर प्रभावी रूप से संचालित कराएं तो पुनः आत्महत्या रोकथाम की दिशा में सकारात्मक कदम होगा। मैंने एक सप्ताह से अपने स्तर पर जागरूकता अभियान पिछले चला रखा है।

शुभेच्छु

डॉ.प्रभात कुमार सिंघल

पूर्व संयुक्त निदेशक, जनसंपर्क विभाग, कोटा

इसे भी पढ़ें – भारत की सांस्कृतिक धरोहरों को सम्मान

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार