Friday, April 19, 2024
spot_img
Homeखबरेंअयोध्या में 13 हजार सिक्योरिटी गार्ड तैनात, आईबी व रॉ के एजेंट...

अयोध्या में 13 हजार सिक्योरिटी गार्ड तैनात, आईबी व रॉ के एजेंट भी सक्रिय

श्री राम लला के विग्रह के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के अवसर पर रामनगरी अयोध्या में लगभग 13 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मियों का अभेद सुरक्षा घेरा बनाया जाएगा। सुरक्षा पुख्ता करने के लिए एटीएस कमांडो व जवानों के साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) व एंटी ड्रोन सिस्टम के जरिए उसे और प्रमाणिक बनाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बादलस जमीन से लेकर आसमान और सरयू नदी के तटों पर कड़ी नजर होगी। सीसीटीवी कैमरों के जरिए भी संदिग्धों की निरंतर निगरानी होगी। आईबी व रॉ के अधिकारियों ने भी अयोध्या में डेरा डाल रखा है और कई स्तर पर सुरक्षा प्रबंधों की निरंतर समीक्षा की जा ही है।

योगी आदित्यनाथ ने अत्याधुनिक तकनीक के सहयोग से चप्पे-चप्पे पर नजर रखे जाने का कड़ा निर्देश दिया है। सरयू नदी व उसके घाटों पर एनडीआरएफ व एसडीआरएफ के जवान मुस्तैद कर दिए गए हैं। अयोध्या में मेहमानों की सुरक्षा के लिए बार कोडिंग का प्रयोग भी किया जा रहा है।

अयोध्या मंडल के पुलिस महानिरीक्षक प्रवीण कुमार ने बताया कि अयोध्या को रेड व येलो जोन में बांटकर सुरक्षा प्रबंध सुनिश्चित कराए गए हैं। अन्य जिलों के 100 से अधिक पुलिस उपाधीक्षक, लगभग 325 निरीक्षकों व 800 उपनिरीक्षकों को अयोध्या में तैनात किया गया है।

मुख्य समारोह से पहले पुलिस और अर्धसैनिक बलों के 11,000 जवान तैनात होंगे। वीआईपी सुरक्षा के लिए तीन डीआईजी, 17 एसपी, 40 अपर पुलिस अधीक्षक, 82 पुलिस उपाधीक्षक, 90 निरीक्षक, एक हजार से अधिक आरक्षी व चार कंपनी पीएसी तैनात की गई है। और पुलिस बल भी बढ़ाया जा रहा है।

अयोध्या में रेल सुरक्षा के लिए भी विशेष प्रबंध किए गए हैं। जीआरपी में अतिरिक्त पुलिसकर्मियों की तैनाती भी की गई है। अतिथियों के साथ व्यवहार को लेकर पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है। 250 पुलिस गाइड भी तैनात किए गए हैं।

पूरे शहर की निगरानी सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से की जा रही है। निजी प्रतिष्ठानों व मकानों में लगे 1500 सीसीटीवी कैमरे आइटीएमएस (इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंंट सिस्टम) से जोड़े गए हैं। यलो जोन में 10,715 स्थानों पर संदिग्धों की पहचान के लिए एआई आधारित बड़ी स्क्रीन लगाई गई हैं, जो आईटीएमएस से जुड़ी हैं।

शहर में अलग-अलग जगह ओएफसी लिंक कैमरे भी लगाए गए हैं। 12 एंटी ड्रोन सिस्टम के माध्यम से रेड और येलो जोन को सुरक्षित किया गया है। पांच किलोमीटर की परिधि में उड़ने वाले किसी भी ड्रोन को लोकेट कर निष्क्रिय किया जा सकता है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार