ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

हालात चिंताजनक, सभी गाइडलाइंस की पालना करेंः बिरला

कोटा। संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी में कोरोना के कारण बिगड़ते हालातों पर चिंता व्यक्त करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने एक बार फिर जनता से वैक्सीन लगवाने और कोविड गाइडलाइंस की पालना करने की अपील की है। बिड़ला ने इस मामले में मेडिकल काॅलेज के चिकित्सकों के साथ स्थिति की समीक्षा भी की।

कोटा में शुक्रवार सुबह बड़ी संख्या में केस आने की जानकारी मिलने पर लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने मेडिकल काॅलेज प्रशासन एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों से फोन पर बात की। इसके बाद बिरला ने कहा कि चिकित्सक जो जानकारी दे रहे हैं उसके अनुसार कोटा में हालात चिंताजनक और भयावह हैं।

इसको देखते हुए आवश्यक है कि वैक्सीनेशन में तेजी लाई जाए। लोग बेहद आवश्यक होने पर ही घर से निकलें, बाहर निकलने पर मास्क पहने रहें, हाथों को बार-बार सैनेटाइज करें तथा कोविड गाइडलाइंस की पालना करें। जो लोग कोविड से संक्रमित हैं किसी भी प्रकार की सहायता की आवश्यकता होने पर वह लोकसभा कैंप कार्यालय से सम्पर्क कर सकते हैं।

बिरला ने मेडिकल काॅलेज प्रशासन को भी निर्देश दिए कि कोविड मरीजों के उपचार के लिए समुचित व्यवस्था की जाए। किसी भी मरीज को परेशानी नहीं होनी चाहिए। मरीजों के उपचार के लिए आवश्यक उपकरणों और संसाधनों की समय पर व्यवस्था कर ली जाए। यदि किसी चीज की आवश्यकता है तो उसके बारे में तत्काल अवगत करवाएं।

लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने बताया कि मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण न्यू मेडिकल काॅलेज अस्पताल पर दबाव बढ़ गया है। ऐसे में आपात स्थिति में मरीजों को आइसोलेट करने के लिए रेलवे कोच की भी व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए उन्होंने मंडल रेल प्रबंधक से भी बात की। डीआरएम ने लोकसभा अध्यक्ष बिरला को बताया कि फिलहाल कोटा में 16 आइसोलेशन कोच उपलब्ध हैं। बिरला ने कहा कि आवश्यकता महसूस होने पर रेल मंत्री से बात कर अतिरिक्त कोच की व्यवस्था की जाएगी।

लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने सामाजिक संगठनों से गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी मास्क के प्रति जागरूक करने के लिए जनअभियान चलाने को कहा है। बिरला ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार अपने स्तर पर संक्रमण को नियंत्रित करने के प्रयास कर रहे हैं, लेकिन इसमें आमजन का सहयोग भी आवश्यक है। लोग मास्क पहने तो इससे संक्रमण को फैलने से रोकने में सहायता मिलेगी।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top