ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

दसवीं फैल ने बना दिए 35 विमान

हर कोई अपने जीवन में सफल होना चाहता है। असफलता एक ऐसा शब्द है जिससे कोई राबता नहीं रखना चाहता होगा। हालांकि कई बार आपके सफल होने के पीछे सबसे बड़ा हाथ असफलता का ही होता है। कई लोग होते हैं जो एक बार असफल होते ही बीच में रास्ता बदल लेते हैं और कई ऐसे होते हैं जो बार-बार असफल होने के बाद भी उसी रास्ते पर चलते हैं। गुजरात के वडोदरा निवासी 17 साल के प्रिंस पांचाल दूसरी श्रेणी में शामिल हैं। प्रिंस पांचाल ने भी असफल होकर एक बड़ी सफलता पाई है। ऐसा हम आपको क्यों बता रहे हैं, इसका जवाब आगे है।

17 साल के प्रिंस पांचाल ने 10वीं कक्षा की परीक्षा दी लेकिन पढ़ाई में उनका मन नहीं लगता था। रिजल्ट आया तो पता चला कि प्रिंस 10वीं क्लास के सारे विषयों में फेल हो गए। इसके बाद उन्होंने कुछ ऐसा किया कि उनकी चर्चा आज देशभर में हो रही है। दरअसल प्रिंस ने इतनी कम उम्र में 35 स्वदेशी विमान बना दिए। ये सभी विमान रिमोट से कंट्रोल किए जाते हैं और फर्राटे से हवा में उड़ान भरते हैं। जब प्रिंस से पूछा गया कि उन्हें प्रेरणा कहां से मिली तो प्रिंस ने बताया कि मुझे मेरे दादाजी से प्रेरणा मिली। जब मैं 10वीं में फेल हुआ तो मैं बहुत दुखी था। मैं हमेशा घर पर ही रहने लगा। दादाजी ने मुझे पास बुलाकर समझाया और कुछ हटके करने की सलाह दी। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए प्रिंस कहते हैं कि बाद में मैंने इंटरनेट और यूट्यूब पर देखकर विमानों के ये मॉडल तैयार किए हैं।

ये प्लेन बनाने के लिए मैंने बैनर और होर्डिंग बनाने में काम आने वाले फ्लेक्स का इस्तेमाल किया है। प्रिंस ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, ‘मैं पहले 10वीं क्लास पास करना चाहता था। जब भी मैं पढ़ने बैठता तो मेरा सिर भारी-भारी लगता था। मेरी कॉलोनी के लोग मुझे तारे जमीं पर वाला लड़का बुलाकर मजाक उड़ाते थे।’ इंटरनेट और यूट्यूब ने प्रिंस की काफी मदद की है। उन्होंने इंटरनेट से ना केवल विमान बनाना सीखा बल्कि उसे बनाने की पूरी प्रक्रिया का विडियो भी अपने यूट्यूब चैनल पर अपलोड कर दिया। प्रिंस का ‘प्रिंस पांचाल मेकर’ के नाम से खुद का एक यूट्यूब चैनल भी है जिस पर वे अपने विडियोज पोस्ट करते रहते हैं।

साभार : https://yourstory.com/hindi/ से

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top