ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पैगंबर का कार्टून बनाने वाले कार्टूनिस्ट का निधन, अल-कायदा की हिटलिस्ट में था नाम

डेनमार्क के रहने वाले एक चर्चित कार्टूनिस्ट कर्ट वेस्टरगार्ड (Kurt Westgard) का हाल ही में 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया। कर्ट द्वारा विभिन्न चर्चित कार्टूनों की रचना की गई थी, परंतु इस्लाम के पैगंबर मोहम्मद (Prophet Muhammad) का कार्टून बनाने को लेकर वे खासे चर्चा में रहे थे।

डैनिश कार्टूनिस्ट कर्ट 13 जुलाई, 1935 को जूटलैंड के हिमरलैंड क्षेत्र में जन्मे थे। एक ईसाई परिवार में जन्मे कर्ट अपनी रचनाओं को लेकर खासे चर्चित हुए थे। 14 जुलाई, 2021 को अपने जन्म दिवस की वर्षगाँठ के अगले दिन ही कर्ट ने डेनमार्क के कोपेनहेगन में अपनी अंतिम साँस ली। उनके परिवार ने बताया कि वे एक लंबे समय से बीमार चल रहे थे।

पैगंबर मोहम्मद पर बनाया था कार्टून
वैसे तो कर्ट ने अपने चित्रकारी के लम्बे जीवन में कई कार्टून बनाए, परंतु वे 2005 में इस्लाम के पैगंबर मोहम्मद को लेकर कार्टून बनाने पर खासे चर्चाओं एवं विवादों से घिर गए थे। कर्ट के इस कार्टून में पैगंबर को एक पगड़ी पहने दिखाया गया था, जो एक बम के आकार की थी। इस कार्टून को लेकर कई कट्टरपंथी इस्लामी संगठनों द्वारा भारी विरोध जताया गया और इसे अपमानजनक करार दिया गया था।

कार्टून को लेकर समस्त डेनमार्क के साथ-साथ कई इस्लामी मुल्कों में विरोध प्रदर्शन हुए थे। इन प्रदर्शनों में कई डैनिश दूतावासों को चिन्हित करके निशाना बनाया गया था। बता दें कि विरोध से दंगों में परिवर्तित हुए इन प्रदर्शनों में 12 से अधिक लोगों की मृत्यु हो गई थी।

2008 में कर्ट ने इस विषय में कहा था कि उन्हें अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है क्योंकि उन्होंने एक व्यंग्यपूर्ण कार्टून बनाया था एवं वे ऐसा दोबारा भी करने को तैयार हैं।

कर्ट अपने कार्टून के चलते इस्लामी आतंकवादी संगठन अल-कायदा की हिटलिस्ट में भी आ गए थे। वर्ष 2010 में इस्लामी आतंकी ओसामा बिन लादेन के गिरोह अल-कायदा द्वारा बनाई गई एक हिटलिस्ट में कर्ट वेस्टरगार्ड का भी नाम था। इसी लिस्ट में सलमान रुश्दी और अयान हिरसी अली जैसे नाम भी शामिल थे।

इसके अलावा कर्ट पर कई बार जानलेवा हमले भी हुए। 2008 में डेनिश प्रशासन द्वारा 3 लोगों को कर्ट की हत्या की साज़िश रचने के अपराध में गिरफ्तार किया गया था। 2 वर्षों के बाद 2010 में मोहम्मद गिले नामक व्यक्ति को एक चाकू लिए कर्ट के घर में हत्या के प्रयास से घुसने के आरोप में हिरासत में लिया गया था। इस व्यक्ति को बाद में 9 वर्ष की सज़ा भी सुनाई गई।

कर्ट पर इस प्रकार के हमलों के कारण उन्हें अपने अंतिम समय में बॉडीगार्ड की सुरक्षा के साथ एक अज्ञात स्थान पर छिप कर रहना पड़ा था। बता दें कि पैगंबर मोहम्मद को लेकर कार्टून बनाने पर विश्व के कई अलग-अलग संस्थानों में पहले भी विवाद हो चुके हैं।

ब्रिटेन में एक शिक्षक द्वारा इस प्रकार का कार्टून दिखाए जाने को लेकर उन्हें स्कूल से निकालने के साथ माफ़ी भी मँगवाई गई थी। एक ऐसी ही समान घटना में फ्रांस में पैगंबर से संबंधित एक कार्टून दिखाने पर एक स्कूल के शिक्षक की गला रेत कर हत्या कर दी गई थी।

साभार- https://dopolitics.in/ से

image_pdfimage_print


Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top