Sunday, July 14, 2024
spot_img
Homeजियो तो ऐसे जियोउद्योग-जगत के प्रेरणा-पुरुषः युवा उद्योगपति प्रवीण अग्रवाल

उद्योग-जगत के प्रेरणा-पुरुषः युवा उद्योगपति प्रवीण अग्रवाल

भारतीय उद्योग-जगत के प्रेरणा-पुरुष युवा उद्योगपति प्रवीण अग्रवाल एक सुयोग्य पिता सज्जन अग्रवाल की एक सुय़ोग्य संतान हैं जिनका 17अगस्त को जन्म दिन था। इसलिए सबसे पहले प्रवीण अग्रवाल को उनके जन्मदिन पर उनके समस्त शुभचिंतकों तथा हितैषियों की ओर से बहुत-बहुत बधाई तथा अनेकानेक शुभ कामनाएं।

ओडिशा में एवरग्रीन टी,बालाजी नारियल तेल,मधुकुंज अगरबत्ती,मधुकुंज गोल्ड-डैमण्ड तथा स्वच्छ डीजरटेंट फैक्टरी के निर्माता-समूह कंपनी के शीर्ष प्रबंधन पदाधिकारियों में से एक हैं- प्रवीण अग्रवाल जो मेक ओडिशा,मेक फार ओडिशा एण्ड एबव आल के सच्चे पक्षधर हैं।भुवनेश्वर में आई वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमणकाल में प्रवीण अग्रवाल अपनी कंपनी की सामाजिक जिम्मेदारी के तहत देवदूत बनकर कोरोना योद्धाओं,कोरोना मरीजों और जरुरतमंदों के जीवित मसीहा के रुप में अपने आपको प्रतिष्ठित किया।

भुवनेश्वर में लॉकडाऊन के समय प्रवीण अग्रवाल स्माइल प्लीज कोविद-19 लंच-डीनर फ्री सेवा आरंभ की जो पूरी तरह से सफल रही। ओडिशा में आये चक्रावाती तूफान यास के समय भी उन्होंने यह सेवा एकसाथ फ्री लंच-डीनर के साथ-साथ सुबह-शाम का नाश्ता के रुप में हजारों लोगों को भी मुहैया कराया। जब उनकी स्वयंसेवी संगठन स्माइल प्लीज ने यह अनुभव किया कि भुवनेश्वर में कोरोना संक्रमित मरीजों को आक्सीजन की कमी से जूझना पड रहा है तो संगठन ने आनन-फानन में स्पर्श होस्पीटल,ओडिशा सोसाइटीज आफ दी अमरीका एचडब्लूजी के सहयोग से 30 बेडवाले फ्री अमृतधाराः आक्सीजन शेल्टर सेवा आरंभ कर दी। अपनी सेवा के तहत यूनिट-3,नेत्रहीन संघ में यह अनोखी सेवा भी फ्री उपलव्ध कराई।

उनके स्वयंसेवी संगठन स्माइल प्लीज का लक्ष्य सभी के चेहरे पर खुशी लाना है जिसके तहत उस वक्त बीएमसी कोविद शेल्टर,अनाथ बच्चों,भिखारियों और कैदियों के बच्चों के लिए शेल्टर होम तथा ओडिशा के अनेक नेत्रहीन संघों में स्माइल प्लीज कोविद-19 लंच-डीनर निःशुल्क सेवा उपलब्ध कराई गई।. गौरतलब है कि प्रवीण अग्रवाल के दादाजी स्व.रामबिलास अग्रवाल तथा उनकी दादीजी स्व.नारायणी देवी पचास के दशक में हरियाणा,शिवानी से जटनी,ओडिशा आये।आज के एकाकी परिवार की अवधारणा को नकारते हुए प्रवीण अग्रवाल का संयुक्त परिवार दूसरों के लिए प्रेरणा बन चुका है।वहीं प्रवीण अग्रवाल की पत्नी नेहा उनके कामयाब जीवन की प्रेरणा हैं।

मधुकुंज अगरबत्ती कंपनी,भुवनेश्वर एक ओर जहां एमएसएमई द्वारा निर्धारित मानदण्डों पर सफल होकर भारत के 100 उभरते हुए व्यवसायों की सूची में शुमार है वहीं कंपनी जब से अस्तित्व में आई है, कंपनी को अनेक राज्य स्तरीय तथा राष्ट्रीय स्तरीय अवार्ड तथा सम्मान मिल चुके हैं।

2014 में भी ओडिशा के माननीय मुख्यमंत्री श्री नवीन पटनायक ने कंपनी को एमएसएमई अवार्ड से सम्मानित किया था।युवा उद्योगपति प्रवीण अग्रवाल ने अपने जन्मदिन पर यह बताया कि उनका यह पैतृक संस्कार है जिसे वे आगे बढ़ाएंगे।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार