Monday, July 22, 2024
spot_img
Homeआपकी बात"विश्व हृदय दिवस": दिल थाम कर हर काम कीजिये

“विश्व हृदय दिवस”: दिल थाम कर हर काम कीजिये

दुनिया भर में हर साल “विश्व हृदय दिवस” 29 सितंबर को मनाया जाता है। यह दिन हृदय की सेहत पर समर्पित है। हृदय रोगों की जोखिम को कम करने तथा दिल के बीमारियों संबंधी इलाज के लिए लोगों में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से विश्व हृदय दिवस के मौके पर कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन करके यह दिवस मनाया जाता है।

दुनिया में पहली बार विश्व हृदय दिवस 24 सितंबर 2000 को मनाया गया था। विश्व स्वास्थ्य महासंघ के पूर्व अध्यक्ष ‘एंटोनी वार्ड डी लूना ‘को विश्व हृदय दिवस हृदय दिवस मनाने का विचार आया । इस विचार पर उन्होंने एक रिपोर्ट पेश की जिसे अपना लिया गया और वर्ष 2000 में हृदय दिवस मनाया गया। बाद में 2012 से 2025 तक वैश्विक मृत्यु दर को 25 फ़ीसदी कम करने के उद्देश्य से 29 सितंबर को विश्व हृदय दिवस मनाने का फैसला लिया गया।

प्रतिवर्ष हृदय दिवस की एक खास थीम होती है जिसके मुताबिक इस दिवस को मनाया जाता है। इस वर्ष विश्व हृदय दिवस 2023 की थीम “यूज हार्ट, नो हार्ट(use heart, know heart) यानी हृदय का उपयोग करें और हृदय को जाने। इस थीम को ध्यान में रखते हुए इस वर्ष विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

हृदय घात या दिल से जुड़े अन्य मामलों की बढ़ती संख्या के कारण लोग हृदय संबंधी मुद्दों से प्रभावित होते जा रहे हैं। इसका एक मुख्य कारक अस्वस्थ और गतिहीन जीवन शैली तथा गलत खान पान भी है। लोगों को हृदय के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने एवं उन्हें स्वास्थ्य के प्रति सचेत करने के लिए विश्व हृदय दिवस मनाते हुए जागरूकता फैलाने का प्रयास किया जा रहा है।

हालांकि लोगों को हृदय रोगों की गंभीरता का तब तक पता नहीं चलता जब तक कि वह इससे पीड़ित ना हो जाए।आज कम उम्र के लोगों में भी हृदय रोग का खतरा बढ़ता जा रहा है ।ऐसे में हृदय विशेषज्ञ हृदय रोगों की जोखिम से बचने के लिए सावधानी बरतने की सलाह देते हैं।

विभिन्न रिपोर्ट्स के मुताबिक 30 साल से कम आयु के लोगों में हृदय रोग संबंधी समस्याएं होने लगी हैं जो की जानलेवा साबित हो सकती हैं। हृदय रोगों में स्ट्रोक, जन्मजात हृदय दोष, हृदयाघात, कार्डियक अरेस्ट, पेरिकार्डियल बहाव, रूमैटिक हृदय रोग, कोरोनरी धमनी रोग, एंजाइना आदि शामिल है। दिल की इन गंभीर बीमारियों से दूर रहने के लिए , स्वस्थ जीवन शैली को अपनाने की जरूरत है। खान-पान, सोने- जागने की नियमित दिनचर्या अपना कर हम अपने हृदय स्वास्थ्य को जानते हुए अपनी तथा अपने आस- पड़ोस के लोगों की सुरक्षा के लिए जागरुकता फैला सकते हैं।

हृदय रोगों से बढ़ते हुए मृत्यु दर को कम करने में सहयोग दे सकते हैं। इस कारण लोगों को हृदय रोगों के प्रति जागरूक करने के लिए सितंबर माह में विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से विश्व हृदय दिवस मनाए जाने का सशक्त कार्य अपनाया जा रहा है और हम और हम 29 सितंबर को विश्व हृदय दिवस के रूप में मना रहे हैं।

डॉ. सुनीता त्रिपाठी “जागृति ”
नई दिल्ली

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार