आप यहाँ है :

विश्व जल दिवस पर जल संरक्षण का संकल्प लेने का आह्वान

कोटा। विश्व जल दिवस की पूर्व संध्या पर न्यू कुंड इंटरनेशनल सोसायटी के तत्वाधान में विज्ञाननगर में जल जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया विश्व जल दिवस के अवसर पर जल संरक्षण का संकल्प लेने का आह्वान किया ।

जल जागरूकता कार्यशाला के मुख्य वक्ता सीसीडीयू डब्ल्यूएसएसओ के मानव संसाधन विकास सलाहकार कमल शर्मा ने जल की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हमारे शरीर का संघटन सत्तर प्रतिशत जल से बना है। केवल हमारा शरीर ही नहीं, अपितु हमारी पृथ्वी भी दो-तिहाई जल से आच्छादित है। जल, वायु और भोजन हमारे जीवन रुपी इंजन के इंधन है। एक के भी न रहने पर जीवन संकट में पड़ सकता है। “जल ही जीवन है” यूं ही नहीं कहा जाता ।पानी सबसे महत्वपूर्ण पदार्थों में से एक है जो पौधों और जानवरों के लिए आवश्यक हैं। हम पानी के बिना अपने दैनिक जीवन का नेतृत्व नहीं कर सकते। पानी हमारे शरीर के आधे से अधिक वजन को बनाता है। पानी के बिना, दुनिया के सभी जीव मर सकते हैं। पानी केवल पीने के लिए ही नहीं, बल्कि हमारे दैनिक जीवन के उद्देश्यों जैसे स्नान, खाना पकाने, सफाई और कपड़े धोने आदि के लिए भी आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि जल हाइड्रोजन के दो और ऑक्सीजन के एक परमाणु से मिल कर बनता है। इसका रासायनिक सूत्र H2O होता है। जल की तीन अवस्थाएं होती है- ठोस, द्रव और गैस। पृथ्वी के लगभग 70 प्रतिशत भाग पर जल विद्यमान है। परंतु इसका 97 प्रतिशत हिस्सा खारा है, जिसे किसी भी प्रयोग में नहीं लाया जा सकता। यह महासागरों, सागरों के रुप में वितरित है।जल एक रासायनिक पदार्थ होता है। यह रंगहीन, गंधहीन होता है। इसका अपना कोई रंग नहीं होता, जिसमें घोला जाय, उसी का रंग ले लेता है।

शर्मा ने कहा कि हम पानी के बिना जीवन की कल्पना नहीं कर सकते। पीने और घरेलू उद्देश्यों के अलावा, पानी हमारी दुनिया के अस्तित्व के लिए महत्वपूर्ण है। हमारी अच्छाई और आने वाले भविष्य के लिए जल का संरक्षण महत्वपूर्ण है। हमें पानी बचाने के लिए पहल करने की जरूरत है चाहे कमी हो या न हो।

पानी, पृथ्वी पर रहने वालों के लिए सबसे महत्वपूर्ण पदार्थों में से एक है। पानी के बिना हमारी धरती नहीं रहेगी। पीने के अलावा कई उद्देश्यों के लिए पानी का उपयोग दैनिक जीवन में किया जाता है। पानी के बिना, हम इंसान मर जाएंगे। दुनिया में सभी जीवित चीजों के लिए पानी की आवश्यकता होती है।
न्यू कोटा इंटरनेशनल सोसायटी के अध्यक्ष श्रीमती अंजू शर्मा ने कहा कि दुनिया के हर जीव को जीने के लिए पानी की जरूरत होती है। छोटे कीड़े से लेकर ब्लू व्हेल तक, पृथ्वी पर हर जीवन पानी की उपस्थिति के कारण मौजूद है। एक पौधे को बढ़ने और ताजा रहने के लिए भी पानी की आवश्यकता होती है। छोटी मछली से लेकर एक व्हेल तक को पानी की आवश्यकता होती है, क्योंकि उसी से उनका अस्तित्व रहता है।हम मनुष्यों को हमारे जीवन के लिए दिन-प्रतिदिन पानी की आवश्यकता होती है। पानी की आवश्यकता के कारण जीव से जीव में भिन्नता हो सकता है। लेकिन दुनिया में पानी की मात्रा उपलब्ध होने के साथ दुनिया का अस्तित्व जल ही सुनिश्चित करता है।

जल विशेषज्ञ डॉक्टर केशव पाराशर ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे शरीर में कोशिकाएं पानी के बिना ठीक से काम नहीं करेंगी। हमें पानी या तो सीधे या फलों या सब्जियों के ज़रिए लेना चाहिए, जिनमें पानी की मात्रा पर्याप्त हो।पानी हमारे लिए बहुत मायनों में आवश्यक है अस्तित्व के लिए पानी पीना और अपने द्वारा खाए गए भोजन को पचाने के लिए नहाना खाना बनाना हमारे कपड़े और चीजें धोना बर्तन साफ करना और घर की साफ-सफाई
इसके अलावा, स्वस्थ फलों और सब्जियों को प्राप्त करने के लिए, हमें पौधों, पेड़ों और फसलों के लिए नियमित रूप से भरपूर पानी की आवश्यकता होती है।पानी एक बहुत ही महत्वपूर्ण पदार्थ है

सामाजिक कार्यकर्ता शिल्पी चौहान ने कहा कि जल अत्यंत आवश्यक है, ये जानते हुए भी बहुत सारे लोग इसको बर्बाद कर देते है। जल से ही समस्त संसार का जीवन है। लेकिन जिस तरह से यह नालियों में बहकर खराब हो रहा है, अगर यही चलता रहा तो सबका जीवन खत्म हो जाएगा। पानी की बहुत कमी और उसी की उच्च आवश्यकता के साथ यह इतना महत्वपूर्ण हो जाता है कि हमें पानी बचाने के लिए संरक्षण कार्यक्रम करने की आवश्यकता है।

सामाजिक कार्यकर्ता एवं पर्यावरणविद् इंजीनियर पुष्पेंद्र शर्मा ने कहा कि पृथ्वी पर मौजूद सभी जीवन रूपों के कामकाज के लिए पानी बुनियादी आवश्यकता है। यह कहना सुरक्षित है कि जीवन का समर्थन करने के लिए पानी पृथ्वी का एकमात्र ग्रह है। यह सार्वभौमिक जीवन तत्व इस ग्रह पर हमारे पास मौजूद प्रमुख संसाधनों में से एक है। पानी के बिना जीवन कतई संभव नहीं है।

जल जागरूकता कार्यशाला में विश्व जल दिवस के अवसर पर जल संरक्षण का संकल्प भी लिया ।इस अवसर पर विज्ञाननगर प्रेम नगर उद्योग नगर क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता शहरी जन महिलाएं तथा न्यू कोटा इंटरनेशनल सोसाइटी के सदस्यगण उपस्थित रहे।

न्यू कोटा इंटरनेशनल सोसायटी के तत्वावधान में जल जागरुकता पंपलेट का भी विज्ञाननगर प्रेम नगर उद्योग नगर क्षेत्र में वितरण किया गया तथा जल जागरुकता के लिए लोगों से वर्षा जल संग्रहण करने घर पर पानी का सदुपयोग करने व्यर्थ पानी नहीं बहाने तथा बूंद बूंद पानी का उपयोग करने का आह्वान किया गया।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top