Tuesday, June 25, 2024
spot_img
Homeसामाजिक समरसता की विशाल धर्मसभा मंगल को रेसकोर्स में, 50 हजार लोग...
Array

सामाजिक समरसता की विशाल धर्मसभा मंगल को रेसकोर्स में, 50 हजार लोग भाग लेंगे

मुंबई। सामाजिक समरसता मंच द्वारा मुंबई में मंगलवार (21 अप्रैल) को विशाल धर्म सभा का आयोजन किया जा रहा है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी एवं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित होंगे। मुंबई में हो रही अपनी तरह की इस पहली धर्म सभा में अनुसूचित जाति, जनजाति एवं इतर समाज के सभी प्रमुख संतों के मार्गदर्शन में सामाजिक विकास एक समरसता पर चिंतन होगा। इस अवसर पर दिन भर चलनेवाले विशेष आयोजनों में 50 हजार से भी ज्यादा लोग हिस्सा लेंगे।

‘एक सोच, एक दिशा’ के सामाजिक उद्देश्य को लेकर महालक्ष्मी रेसकोर्स के पोलो ग्राउंड में होनेवाली इस विशाल धर्मसभा में सामाजिक समरसता मंच के अखिल भारतीय संयोजक भीकूजी इदाते, महाराष्ट्र के सामाजिक न्यायमंत्री राजकुमार बडोले एवं सामाजिक न्याय राज्यमंत्री दिलीप कांबले भी विशेष रूप से उपस्थित होंगे। यह धर्म सभा शाम 5 बजे से रात 9 बजे तक चलेगी। इस अवसर पर सभा स्थल पर सुबह 9 बजे से समरसता यज्ञ शुरू होगा। सभा स्थल पर 30 से भी ज्यादा स्टॉल लगाए जा रहे हैं, जहां अनुसूचित जाति, जनजाति एवं इतर समाज के विकास के लिए चलाई जा रही विभिन्न सरकारी योजनाओं की जानकारी लोगों को दी जाएगी। इस अवसर पर महिलाओं के लिए विशेष हेल्थ चेकअप कैंप का भी आयोजन किया गया है। सभा स्थल पर पहुंचने के लिए महालक्ष्मी स्टेशन से बसों का विशेष इंतजाम किया गया है। 

सुबह 9 बजे से शुरू होनेवाले विभिन्न आयोजनों एक खास आयोजन होगा मुंबई मेघवाल पंचायत का सामूहिक विवाह का, जिसमें करीब 50 से ज्यादा जोड़े एक साथ परिणय बंधन में बंधेंगे। कुल 50 हजार से भी ज्यादा लोगों की सहभागिता वाले इस आयोजन को सफल बनाने में करीब 150 से भी ज्यादा कार्यकर्ता पिछले एक महीने से इस लगे हुए हैं। मुंबई में दलित समाज का अब तक का यह सबसे यूनिक आयोजन होगा, जिसमें विकास के साथ साथ सामाजिक समरसता व एक सोच – एक दिशा की धारा को आगे बढ़ाने पर चिंतन भी होगा।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार