ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

लोकसभा अध्यक्ष ने किया सीमलिया, दीगोद, कनवास व बपावर के कोरोना योद्धा सैनिकों से संवाद

कोटा। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड रोगियों के उपचार में स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिकों की भूमिका अहम है। आज जब ग्रामीणों के मन में इस महामारी को लेकर अनेक प्रकार की भ्रातियां है, ऐसे में स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिक उनको उपचार केंद्र तक लाने, दवाएं दिलवाने तथा बीमारी के दौरान उनके स्वास्थ्य की माॅनिटरिंग कर उनको स्वस्थ करने में मददगार साबित होंगे। वे शुक्रवार को सीमलिया, दीगोद, कनवास व बपावर क्षेत्र के स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिकों के साथ संवाद कर रहे थे।

लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि यह संक्रमण मनुष्य से मनुष्य में फैल रहा है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्र के लोग अब भी मास्क कम पहन रहे हैं। सामाजिक दूरी की पालना भी कम दिख रही है। ऐसे में स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिक आजन के बीच जनजागरण करें और उन्हें कोविड गाइडलाइन की सख्ती से पालना करने को संदेश दें।

संवाद के दौरान बिरला ने कहा कि संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी के सभी क्षेत्रों में स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिकों को किट्स भिजवा दी गई हैं। जहां नहीं पहुंची हैं वहां शनिवार तक पहुंच जाएंगी। अब गांव की सुरक्षा की जिम्मेदारी आपकी है। आपको प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचना है और उसके स्वास्थ्य की जांच करनी है। यदि किसी व्यक्ति में लक्ष्ण दिखाई देते हैं तो उसे तत्काल आइसोलेट कर उसका उपचार प्रारंभ करवाना है। प्रत्येक जीवन कीमती है और हमें प्रत्येक जीवन को बचाने के लिए प्रयास करने हैं।
—-
*मास्क को सही तरीके से पहनना जरूरीः डा. पारीक*
संवाद के दौरान स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिकों को कोविड की सामान्य जानकारी देते हुए वरिष्ट चिकित्सक डा. केके पारीक ने कहा कि सभी लोग जल्द से जल्द वैक्सीन लेने का प्रयास करें। लेकिन जब तक वैक्सीन नहीं लगती है तब तक मास्क की वैक्सीन है। लेकिन यह जरूरी है कि मास्क सही तरह से पहना जाए। उन्होंने कहा कि इस समय कोई भी बुखार, खांसी, जुखाम, गले में खराश कोविड है। बहुत से लोग यह स्वीकारने को तैयार नहीं होते, लेकिन यदि हमें स्थिति को नाजुक बनने से रोकना है तो हमें रोग को स्वीकार नहीं करने की मानसिकता को त्यागना होगा। उन्होंने कहा कि जिस घर में एक भी कोविड रोगी मिलता है, उस घर के सभी सदस्यों की कोरोना जांच होना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग वैक्सीन में भी चयन कर रहे हैं और इसके लिए वैक्सीन लगवाने में देरी कर रहे हैं। जबकि सभी वैक्सीन प्रभावी हैं कोरोना के प्रति सुरक्षा प्रदान करती हैं। ऐसे में सभी को जल्द से जल्द वैक्सीनेशन करवाना चाहिए।

*शुरूआती दिनों में स्टीयरोइड का प्रयोग अनुचितः डा. डंग*
संवाद के दौरान स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिकों को कोविड की सामान्य जानकारी देते हुए वरिष्ठ चिकित्सक डा. केके डंग ने कहा कि किसी व्यक्ति के कोविड पाॅजीटिव आने के बाद प्रारंभिक दिनों में स्टीयरोइड का प्रयोग अनुचित है। इससे रोगी को कई तरह की समस्याएं भी हो सकती हैं। उन्होेंने कहा कि हमें दिन में से 3 से 5 बाद कोविड रोगी का आॅक्सीजन स्तर जांचना चाहिए। यदि आक्सीजन का स्तर 94 से नीचे जाता है तो तत्काल रोगी को चिकित्सकीय परमार्श दिलवाना चाहिए।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top