आप यहाँ है :

कोटा मंडल के सभी रेलवे स्टेशनों होगा कायाकल्प

कोटा । कोटा मंडल के सभी रेलवे स्टेशनों का कायाकल्प होगा। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के निर्देश पर रेल अधिकारियों ने इसका खाका तैयार कर लिया है। अधिकांश कार्यों को स्वीकृति मिल चुकी है, शेष को दिसंबर तक स्वीकृति मिलने की संभावना है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को इन विकास कार्यों की रेल अधिकारियों के साथ समीक्षा की। कैंप कार्यालय में आयोजित बैठक के बाद लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि 120 करोड़ रूपए की लागत से कोटा रेलवे स्टेशन का रिडव्ल्पमेंट के कार्य जल्द शुरू होने वाले हैं। कोटा रेलवे स्टेशन पर नया प्रवेश द्वार तैयार किया जाएगा। इसके बाद वर्तमान के दोनों द्वार सिर्फ प्लेटफार्म से बाहर आने के लिए आरक्षित कर दिए जाएंगे। प्लेटफार्म की पहली मंजिल पर यात्रियों के ठहरने के लिए कमरे तैयार किए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि कोटा के प्लेटफार्म नंबर 1 पर रामगंजमंडी छोर की ओर एस्केलेटर तथा प्लेटफार्म नंबर 4 पर दो लिफ्ट लगाई जाएंगी। इसके अलावा भी सर्कुलेटिंग क्षेत्र में सुविधाजनक आवागमन की व्यवस्था तथा यात्री सुविधाओं के दृष्टिकोण से अनेक विकास कार्य होंगे। प्लेटफार्म नंबर के बाहर का सर्कुलेटिंग एरिया भी विकसित किया जाएगा। बिरला ने कहा कि डकनिया स्टेशन का रिडव्ल्पमेंट भी 30 करोड़ की लागत से होगा। इसमें डकनिया रेलवे स्टेशन पर लूप लाइन बिछाने संबंधी टेंडर कि प्रक्रिया भी अंतिम स्तर पर है। डकनिया में यात्रियों की सुविधा के लिए 2 एस्केलेटर लगाने तथा 3 लिफ्ट भी लगाई जाएंगी। यात्रियों को बैठने के लिए सुविधाजनक बैंच और शुद्ध पेयजल की सुविधा भी मिलेगी।
मेमो ट्रेन सोगरिया स्टेशन का लोकार्पण जल्द

लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने बताया कि सोगरिया स्टेशन का लोकार्पण और मेमो ट्रेन का संचालन जल्द होगा। मेमो ट्रेन के संचालन के लिए अभी जो टाइमटेबल तैयार किया गया था, उसमें काफी कमियां थीं। अनेक लोगों ने इस पर आपत्ती जताई थी। हमारा प्रयास है कि रोडसाइड स्टेशन पर रहने वाले लोगों को हर घंटे मेमो ट्रेन की सुविधा मिले। इसके लिए रेल अधिकारियों को टाइम टेबल में सुधार के लिए कहा है। मेमो ट्रेन के दो और रैक लाने के भी प्रयास किए जा रहे हैं। इसी तरह सोगरिया रेलवे स्टेशन की अप्रोच रोड में सुधार तथा स्टेशन में कुछ छोटे-मोटे कार्य बाकी हैं। अधिकारियों को कहा गया है, इन्हें जल्द से जल्द पूरा किया जाए।

लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि नवरात्र के दौरान इंद्रगढ़ में रेलगाड़ियों का ठहराव सुनिश्चित किया जाए। इंद्रढ़ माताजी मंदिर लोगों की आस्था का केंद्र है। बड़ी संख्या में लोग मंदिर के दर्शनों को जाते हैं। रेल अधिकारियों ने इसकी व्यवस्था करने की बात कहते हुए बताया कि इंद्रगढ़ स्टेशन पर यात्रियों को कई अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कार्य स्वीकृत किए गए हैं।

बैठक में रेल अधिकारियों ने बताया कि लोकसभा अध्यक्ष बिरला द्वारा कुछ समय पूर्व ट्रेन से किए गए कोटा-रामगंजमंडी खंड के दौरे में सामने आवश्यकताओं के अनुरूप डाढ़देवी, अलनिया, रांवठा रोड, दरा और कंवलपुरा में करीब दो करोड़ रूपए के कार्य प्रस्तावित किए गए हैं।

बैठक में लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने रामगंजमंडी रेलवे स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में सुधार के निर्देश दिए। इस पर अधिकारियों ने बताया कि सर्कुलेटिंग एरिया के लिए कार्ययोजना तैयार की जा रही है। इसके अलावा रामगंजमंडी रेलवे स्टेशन पर 49 लाख की लागत से फुटओवर ब्रिज तथा रेलवे स्टेशन के दोनों प्लेटफाॅर्म पर लिफ्ट सुविधा भी दी जाएगी। प्लेटफार्म नंबर 3 के बाहर के सर्कुलेटिंग एरिया का भी करीब 1.5 करोड़ की लागत से कायाकल्प होगा। बैठक मे डी आर यू सी सी मेंबर लव शर्मा उपस्थित थे।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top