Friday, May 24, 2024
spot_img
Homeहिन्दी जगतराष्ट्रीय ख्याति के बीसवें अम्बिकाप्रसाद दिव्य पुरस्कारों हेतु पुस्तकें आमंत्रित

राष्ट्रीय ख्याति के बीसवें अम्बिकाप्रसाद दिव्य पुरस्कारों हेतु पुस्तकें आमंत्रित

“साहित्य सदन” भोपाल द्वारा राष्ट्रीय ख्याति के बीसवे अम्बिकाप्रसाद दिव्य स्मृति प्रतिष्ठा पुरस्कारों हेतु साहित्य की अनेक विधाओं में पुस्तकें आमंत्रित की गई हैं । उपन्यास , कहानी , कविता , व्यंग , निबन्ध एवं बाल साहित्य विधाओं पर प्रत्येक के लिए इक्कीस सौ रुपये राशि के पुरस्कार प्रदान किये जायेंगे । दिव्य पुरस्कारों हेतु पुस्तकों की दो प्रतियाँ , लेखक के दो चित्र एवं प्रत्येक विधा की प्रविष्टि के साथ 200 /- दो सौ रुपये प्रवेश शुल्क भेजना होगा ।

हिन्दी में प्रकाशित पुस्तकों की मुद्रण अवधि 1 जनवरी2015 से लेकर 31 दिसम्बर 2017 के मध्य होना चाहिये । राष्ट्रीय ख्याति के इन प्रतिष्ठापूर्ण चर्चित दिव्य पुरस्कारों हेतु प्राप्त पुस्तकों पर गुणवत्ता के क्रम में दूसरे स्थान पर आने वाली पुस्तकों को दिव्य प्रशस्ति पत्रों से सम्मानित किया जायेगा ।
अन्य जानकारी हेतु मोबाइल नं. 09977782777 और दूरभाष : 0755-2494777 , एवं ईमेल : [email protected] पर संपर्क किया जा सकता है ।

पुस्तकें भेजने का पता है :
श्रीमती राजो किंजल्क ,
साहित्य सदन ,
145-ए , सांईनाथ नगर , सी सेक्टर ,
कोलार रोड , भोपाल – 462042
पुस्तकें प्राप्त करने की अंतिम तिथि 30 दिसम्बर 2017 है ।
कृपया प्रेषित पुस्तकों पर पेन से कोई भी शब्द न लिखें ।

जगदीश किंजल्क
संयोजक: दिव्य पुरस्कार
साहित्य सदन,145-ए,
सांईनाथ नगर ,
सी-सेक्टर, कोलार रोड,
भोपाल-462042
संपर्क-09977782777 / 0755-2494777

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार