आप यहाँ है :

डाॅ. कृष्णगोपाल मिश्र
 

  • राष्ट्र की प्रगति के लिए हिन्दी की सर्वस्वीकार्यता आवश्यक

    राष्ट्र की प्रगति के लिए हिन्दी की सर्वस्वीकार्यता आवश्यक

    गृहमंत्री श्री अमित शाह के हिंदी के पक्ष में प्रस्तुत वक्तव्य--‘भारत’ विभिन्न भाषाओं का देश है और हर भाषा का अपना महत्व है मगर पूरे देश की एक भाषा होना अत्यंत आवश्यक है

  • सबसे प्यारा शब्द है – माँ

    माता के संदर्भ में रचित विश्व साहित्य भी इस तथ्य का साक्षी है। जहां भारतीय साहित्य में संस्कृत से लेकर आधुनिक भारतीय भाषाओं तक माँ के संदर्भ में विपुल सामग्री मिलती है वहां अंग्रेजी, रूसी, जापानी आदि विदेशी भाषाओं के साहित्य में भी माँ को श्रद्धा और आदर के साथ स्मरण किया जाता रहा है।

Back to Top